गर्भ निरोधक टेबलेट के नुकसान | Garbh nirodhak tablet ke nuksan hindi mei

गर्भ निरोधक टेबलेट के नुकसान | Garbh nirodhak tablet ke nuksan hindi mei

हेलौ प्रिय दोस्तों, आज हम इस लेख में बात करेंगे गर्भ निरोधक टेबलेट के नुकसान (Garbh nirodhak tablet ke nuksan) के बारे में। गर्भ निरोधक टेबलेट यानी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल अनचाहे गर्भ को रोकने में मदद करती है। जिस प्रकार से विश्व में जनसंख्या वृद्धि हो रही है, उस हिसाब से गर्भ निरोधक टेबलेट का इस्तेमाल करना कुछ हद तक सही भी है। लेकिन इसके कई नुकसान भी हो सकते हैं, इसलिए बिना डॉक्टर से जानकारी लिए इनका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। (गर्भ निरोधक टेबलेट के नुकसान)

गर्भनिरोधक टेबलेट महिला के शरीर में ओवुलेशन की प्रक्रिया को बंद कर देती है, जिससे एग्स का उत्पादन बंद हो जाता है। यदि एग्स ही नहीं बनेंगे तो स्पर्म के साथ जुड़कर फर्टिलाइज भी नहीं होंगे। इस प्रकार गर्भधारण करने से बचा जा सकता है। बाजार में कई प्रकार की गर्भ निरोधक टेबलेट पाई जाती है। कुछ टेबलेट को महीने भर बिना गैप के खाना होता है, जबकि कुछ टेबलेट को यौन क्रिया के बाद खाना होता है। (गर्भ निरोधक टेबलेट के नुकसान)

गर्भ निरोधक टेबलेट जहां एक ओर अनचाहे गर्भ से बचाती है वहीं दूसरी ओर शरीर को इसके कई दुष्परिणाम देखने पड़ सकते हैं। गर्भ निरोधक टेबलेट पीरियड की अनियमितता को बढ़ा सकती है, इसके साथ ही इसका सेवन करने से ब्लड क्लॉट्स की समस्या भी हो सकती है। गर्भ निरोधक टेबलेट से कई अन्य समस्याएं जैसे उल्टी, जी मिचलाना, सर दर्द, माइग्रेन आदि हो सकती है। इसलिए गर्भ निरोधक टेबलेट खाने के अलावा अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए कई दूसरे उपायों पर भी सोच विचार करना चाहिए। (गर्भ निरोधक टेबलेट के नुकसान)

तो आइये जानते हैं गर्भ निरोधक टेबलेट के नुकसान। यदि आप इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जानना चाहते हैं तो इस लेख को आखिर तक ध्यान से पढ़ते रहे ताकि कोई भी महत्वपूर्ण जानकारी आप से न छूट सके। (गर्भ निरोधक टेबलेट के नुकसान)

गर्भ निरोधक टेबलेट के नुकसान (Side effects of contraceptive in hindi) –

  • गर्भ निरोधक टेबलेट पीरियड की अनियमितता को बढ़ा सकती है।
  • गर्भ निरोधक टेबलेट लेने पर ब्रेस्ट मिल्क में कमी आ सकती है।
  • गर्भ निरोधक टेबलेट उल्टी, दस्त एवं जी मचला में जैसी समस्याओं का कारण हो सकती है।
  • गर्भ निरोधक टेबलेट का सेवन करने से स्तन में सूजन आ सकती है।
  • गर्भ निरोधक टेबलेट मानसिक तनाव को बढ़ावा दे सकती है।
  • गर्भ निरोधक टेबलेट खाने से यौन इच्छा में कमी आ सकती है।
  • लंबे समय तक गर्भ निरोधक टेबलेट का इस्तेमाल करने से अवसाद यानी डिप्रेशन की समस्या हो सकती है।
  • गर्भनिरोधक गोली केवल अनचाहे गर्भ को रोकती है यह यौन क्रिया के दौरान संक्रमित बीमारियों के होने के खतरे को कम नहीं करती है।
  • गर्भ निरोधक टेबलेट का इस्तेमाल करने से बिना माहवारी के भी खून के धब्बे देखे जा सकते हैं।
  • गर्भ निरोधक टेबलेट लेने से वजन बढ़ सकता है।
  • गर्भ निरोधक टेबलेट खाने से वजाइना में खुजली और सूजन की समस्या हो सकती है।
  • गर्भ निरोधक टेबलेट सर दर्द और माइग्रेन को बढ़ावा दे सकती है।

इन टेबलेट के बारे में भी पढ़े – एविल टेबलेट के फायदे और नुकसान | Avil tablet ke fayde aur nuksan hindi mei

हिमालय अश्वगंधा टेबलेट के फायदे और नुकसान | Himalaya ashvagandha tablet ke fayde aur nuksan hindi mei

न्यूरोबियान फोर्ट टेबलेट के फायदे और नुकसान | Neurobion forte tablet ke fayde aur nuksan hindi mei

गर्भ निरोधक टेबलेट से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल –

गर्भनिरोधक गोली खाने से क्या नुकसान है?

गर्भनिरोधक टेबलेट खाने से क्या नुकसान हो सकते हैं जो ऊपर इस लेख में दिए गए हैं।

गर्भनिरोधक गोली बंद करने के कितने दिन बाद पीरियड आता है?

गर्भनिरोधक गोली को बंद करने के बाद पीरियड नियमित होने में लगभग 3 महीने का समय लग सकता है।

प्रेग्नेंट नहीं होने के लिए कौन सी गोली खानी चाहिए?

प्रेग्नेंट नहीं होने के लिए बाजार में कई प्रकार की गर्भ निरोधक गोली आती है, इसके सेवन से अनचाहे गर्भ से बचा जा सकता है।

गर्भ निरोधक गोली गर्भ धारण करने से कैसे बचाती है?

गर्भनिरोधक टेबलेट महिला के शरीर में ओवुलेशन की प्रक्रिया को बंद कर देती है, जिससे एग्स का उत्पादन बंद हो जाता है। यदि एग्स ही नहीं बनेंगे तो स्पर्म के साथ जुड़कर फर्टिलाइज भी नहीं होंगे। इस प्रकार गर्भधारण करने से बचा जा सकता है।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.