सोते समय हाथ सुन्न होना कारण एवं उपाय हिंदी में | Sote Samay Hath Sunn Hona Karan Evam Upaay Hindi Mei

सोते समय हाथ सुन्न होना कारण एवं उपाय हिंदी में | Sote Samay Hath Sunn Hona Karan Evam Upaay Hindi Mei

Table of Contents

सोते समय हाथ सुन्न होना कारण एवं उपाय हिंदी में | Sote Samay Hath Sunn Hona Karan Evam Upaay Hindi Mei

सोते समय हाथ पैरों का सोना यानि सुन्न होना एक काफी आम समस्या है, इसमें हाथ में चुभन का एहसास होता है। इसके कई कारण हो सकते हैं। आज हम इस लेख में आपको हाथ पैर सुन्न होने के कारणों के साथ साथ इसके बारे में जुड़ी अन्य जानकारी जैसे हाथ पैर सुन्न होने के घरेलू उपचार, यह किस बीमारी के लक्षण हैं इत्यादि जानकारी भी देंगे। तो चलिए जानते हैं सोते समय हाथ सुन्न क्यों हो जाते हैं, साथ में इसके घरेलू उपचार।

सोते समय हाथ सुन्न होना कारण एवं उपाय हिंदी में | Sote Samay Hath Sunn Hona Karan Evam Upaay Hindi Mei

सोते समय हाथ पैर सुन्न होने के कारण –

सोते समय हाथ सुन्न होने के कई कारण हो सकते हैं, सामान्यतः ब्लड सर्कुलेशन ठीक से नहीं हो पाने, ठीक से नींद ना आने या थकान के कारण यह समस्या होती है। किन्तु यदि आपको यह बार बार हो रही है तो ऐसे में डॉक्टर से सलाह जरुर लें। चलिए अब विस्तार से जान लेते हैं सोते समय हाथ पैर सुन्न होने के कारण।

1. ब्लड सर्कुलेशन की कमी –

ब्लड सर्कुलेशन की कमी के कारण सोते समय हाथ पैर सुन्न हो सकते हैं। ब्लड सर्कुलेशन की कमी यानी ब्लड का शरीर के सभी अंगों तक बराबर ना पहुंचना, इस वजह से सेल्स को सही मात्रा में ऑक्सीजन और एनर्जी नहीं मिल पाती है और हाथ पैरों में सुन्न होने की समस्या होने लगती है।

2. न्यूरोपैथी –

इस तरह की समस्या में हमारा नर्वस सिस्टम कमजोर हो जाता है, जिसकी वजह से दिमाग अच्छे से पुरे शरीर को संकेत नहीं दे पाता है और इसी वजह से नसें भी डैमेज होती है, जिसके कारण सोते समय हाथ पैरों में सुन्न होने की समस्या और हुंझुनाहट जैसी समस्या होने लगती है।

3. पोषक तत्वों की कमी –

शरीर में पोषक तत्वों की कमी के कारण भी सोते समय हाथ पैर सुन्न होने की समस्या हो सकती है, खास तौर पर यदि आपके शरीर में बी ग्रुप के विटामिन और फोलिक एसिड की कमी हो तो आपके हाथ पैर सुन्न हो सकते हैं। इसके अलावा पोषक तत्वों की कमी से शरीर कमजोर भी होता है, जिसके कारण भी हाथ पैर सुन्न हो सकते हैं।

4. डिहाइड्रेशन –

यदि आपको डिहाइड्रेशन की समस्या है यानि यदि आपके शरीर में पानी की कमी है तो ऐसी अवस्था में भी सोते समय हाथ पैर सुन्न होने जैसी समस्या हो सकती है। दरअसल जब शरीर में पानी की कमी होती है तो शरीर के सभी अंगों में ब्लड के सप्लाई पर असर पड़ता है और ठीक तरह से ब्लड सप्लाई नहीं होने से हाथ पैर सुन्न होने लगते हैं। इसके अलावा डिहाइड्रेशन का असर ऑक्सीजन सप्लाई पर भी होता है, जो एक बार फिर हाथ पैर सुन्न होने की वजहों में से एक है।

5. पेरेस्टेसिया –

पेरेस्टेसिया एक तरह की न्यूरोपैथिक बीमारी ही है इस बीमारी में शरीर को संवेदना का एहसास कम होने लगता है, इसी कारण सोते समय हाथ पैर सुन्न होने लगते हैं। इस बीमारी के होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं जैसे नर्वस सिस्टम संबंधी कोई परेशानी या न्यूरोलॉजिकल प्रॉब्लम इत्यादि। यदि आपको इस तरह की गंभीर समस्या है तो डॉक्टर से सम्पर्क अवश्य करें।

6. कार्पल टनल सिंड्रोम –

यह एक तरह की ऐसी आम अवस्था है, जिसमे हाथों की उँगलियाँ और कलाई में दर्द, सुन्नता और झुनझुनाहट का एहसास होता है। यह कार्पल टनल सिंड्रोम तब होता है जब हाथ की एक जगह जिसे कार्पल टनल कहा जाता हैं, उसमे मौजूद नसों पर दबाव पड़ जाता है। अधिकतर यह समस्या ज्यादा टाइपिंग करने या ज्यादा हैंड मूवमेंट के दौरान उत्पन्न होती है।

4. डायबिटीज़ –

डायबिटीज़ के कारण भी हाथ पैर सुन्न होने लगते हैं, ऐसी स्थिति को डायबिटीज़ न्यूरोपैथी भी कहा जाता है। यदि आपको डायबिटीज़ है और ब्लड शुगर लेवल ज्यादातर हाई ही रहता है तो इसी स्थिति के कारणवश हाथ पैर सुन्न होने लगते हैं। इसके अलावा डायबिटीज़ नर्वस सिस्टम को भी प्रभावित करता है। जिस वजह से हाथ पैर सुन्न हो सकते हैं।

सोते समय हाथ पैर सुन्न होने के कुछ अन्य कारण –

  1. अनिद्रा और अशांति
  2. स्वास्थ्य के सामान्य बिगड़ना और कमजोरी
  3. ताकत की कमी और थकान
  4. मस्तिष्क संबंधी समस्याएं जैसे मिग्रेन
  5. सूजन और दर्द
  6. यात्रा या उच्च स्थानों पर दिक्कत

सोते समय हाथ पैर सुन्न होने के घरेलू उपाय –

1. तेल की मालिश –

हाथ पैरों को नियमित रूप से मसाज करने से रक्त संचार में सुधार होता है और सुन्नता में आराम मिलता है। हाथ पैरों में नींद के पहले रात को नरम तेल से मालिश करने से सुन्नता में आराम मिलता है। रोज़ाना गर्म पानी के साथ हाथ और पैरों की मालिश करने से सुन्नता कम होती है। मालिश के लिए सरसों या जैतून के तेल का उपयोग करें।

2. सफ़ेद नमक और गर्म पानी में हाथ पैर रखना –

सफ़ेद नमक को गर्म पानी में मिला कर इसमें पैर डाल कर बैठिये इससे हाथ पैर की सुन्नता कम होगी। आप चाहें तो केवल गर्म पानी का इस्तेमाल भी कर सकते है। यदि आपको सूजन की समस्या है तो भी इस उपाय से आपकी सूजन उतरने में मदद मिलेगी।

3. नीम –

नीम में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल प्रॉपर्टी पायी जाती है। इसलिए नीम सोते समय हाथ पैर सुन्न होने की समस्या को ठीक करने में कारगर होता है। नीम का इस्तेमाल करने के लिए इसकी ताज़ी पत्तियों को पीस लें और हाथ पैरों पर इसका पेस्ट 10 से 15 मिनट के लिए लगाएं और फिर धो लें। नीम का पेस्ट हफ्ते में 2 से 3 बार लगा सकते हैं, इससे सोते समय हाथ पैर सुन्न होने की समस्या जल्दी ठीक हो जाएगी।

4. दूध और हल्दी –

दूध और हल्दी पीने से हाथ पैर सुन्न होने की समस्या को ठीक किया जा सकता है। हल्दी में एंटीइंफ्लेमटरी और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टी पायी जाती है इसलिए दूध के साथ इसे लेने से इसके फायदे और भी बढ़ जाते हैं। नियमित रुप से हल्दी दूध पीने से शरीर को कई सारे फायदे देखने को मिलते हैं।

5. एक्सरसाइज –

नियमित रुप एक्सरसाइज करने से शरीर एक्टिव रहता है और शरीर में ब्लड सर्कुलेशन भी अच्छा होता है, इसी कारण नियमित रुप से एक्सरसाइज करने से हाथ पैर सुन्न होने की समस्या ठीक हो सकती है। एक्सरसाइज करने से शरीर में चुस्ती फुर्ती भी रहती है।

6. संतुलित आहार –

कई बार शरीर में पोषक तत्वों की कमी से भी रात में हाथ पैर सुन्न होने की समस्या हो सकती है, खास तौर पर यह तब होती है जब विटामिन बी या फिर फोलिक एसिड की कमी शरीर में हो जाती है। इसलिए संतुलित आहार का ही सेवन करें ताकि आपके शरीर को सभी पोषक तत्व पर्याप्त रुप से मिल सकें।

7. वजन कम करें –

यदि आपका वजन ज्यादा है तो आपकी कई अन्य परेशानियों के साथ साथ आपको हाथ पैर सुन्न होने की समस्या भी हो सकती है। मोटे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन अच्छे से नहीं हो पाता है, इसलिए सोते समय हाथ पैर सुन्न हो सकते हैं। यह समस्या ठीक करने के लिए अपना वजन कम करने पर भी ध्यान दें।

8. हाइड्रेशन –

जैसा कि हमने ऊपर बताया की शरीर में पानी की कमी की वजह से भी सोते समय हाथ पैर में सुन्न होने की समस्या हो सकती है। इसलिए शरीर को हाइड्रेटेड रखना बेहद जरुरी है। शरीर में पानी की कमी ना हो इसके लिए सामान्य व्यक्ति को दिन में कम से कम 8 से 10 ग्लास पानी अवश्य पीना चाहिए। यदि आप चाहते हैं कि जो आपने पानी पीया है उसका उपयोग शरीर पूरी तरह से कर पाए और उसमे से सभी पोषक तत्वों को ग्रहण कर पाए तो आपको कैफीन युक्त पदार्थों से बचना चाहिए।

कुछ अन्य घरेलू इलाज –

  • सोते समय पैरों को ऊपर की ओर रखें, इससे पैर सुन्न नहीं होंगे और सूजन होगी तो वो भी उतर जाएगी।
  • नींबू के छिलके को हाथ और पैरों पर रगड़ने से सुन्नता कम होती है। छिलके में पाए जाने वाले तत्व खून को साफ़ करते हैं और सर्कुलेशन को बढ़ाते हैं।

हाथ पैर सुन्न होना कौन सी बीमारी के लक्षण हैं?

हाथ पैर सुन्न होना कई बीमारियों के लक्षण हो सकते हैं। आइये जानते हैं ऐसी कौन सी बीमारियां हैं जिनमें हाथ पैर सुन्न होते हैं-

1. ब्लड सर्कुलेशन ठीक से ना हो पाना –

कई बार शरीर में ब्लड सर्कुलेशन ठीक से नहीं हो पाटा है इस वजह से भी हाथ पैर सुन्न होने लगते हैं। आइये जानते हैं इस समस्या के और लक्षण क्या हैं।

  • हाथ और पैरों के रोंगटे खड़े होना और बार बार ठंड महसूस होना।
  • धड़कन की गति असामान्य होना।
  • थकान और कमजोरी महसूस होना।

2. नसों से जुड़ी समस्या –

यदि आपको नसों से जुड़ी कोई समस्या है तो ऐसे में भी आपके हाथ पैर सुन्न हो सकते हैं, इस समस्या के कुछ और लक्षण भी हो सकते हैं आइये जानते हैं क्या –

  • हाथ और पैरों में झनझनाहट।
  • नसों में दबाव के कारण दर्द होना।
  • सूजन आना।
  • गांठ का बनना।

3. थायराइड होना –

थायराइड में भी हाथ पैर सुन्न होने की समस्या देखी गयी है, इसके साथ ही थायराइड के और भी लक्षण हो सकते हैं जैसे –

  • थकान और कमजोरी।
  • वजन कम होना या बढ़ना।
  • यूरिन की मात्रा में बदलाव।
  • ध्यान केंद्रित नहीं रख पाना।
  • त्वचा की सुखाना या तैलीयता।

4. डायबिटीज़ (शुगर) –

हाई शुगर यानि शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ने पर भी हाथ पैर सुन्न होने लगते हैं। आइये जानते हैं इस बीमारी के कुछ और लक्षण क्या हो सकते हैं –

  • पेशाब की बार-बार इच्छा।
  • बहुत ज्यादा प्यास और भूख।
  • वजन कम होना या बढ़ना।
  • गालों, गर्दन, या जीभ की खुजली या चिढ़ाना।

5. न्यूरोपेथी –

यह नर्वस सिस्टम से जुड़ी एक समस्या है, जिसके कारण भी हाथ पैरों में सुन्न होने की समस्या हो सकती है। इस समय के कुछ और भी लक्षण हैं जैसे –

  • शरीर में दर्द होना।
  • सूजन और बाँझपन का होना।
  • हाथ और पैरों में झनझनाहट होना।
  • दर्द होना
  • दिमाग का शरीर के दूसरे अंगों को ठीक से संकेत ना पहुंचा पाना।

यह भी पढ़ें –

हाथ पैर में जलन व थकान के कारण क्या हैं?

शरीर के काले दागों को ठीक करने के लिए बेहतरीन करे,

पिचके गालों को भरने के उपाय

इस लेख से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

हाथ पैर सुन्न होना कौन सी बीमारी के लक्षण हैं?

हाथ पैर सुन्न होना सामान्य बात भी हो सकती है और कई अन्य बीमारी जैसे डायबिटीज़, न्यूरोपैथी, थाइरोइड आदि बीमारियों के लक्षण भी हो सकते हैं।

हाथ सुन्न हो जाने पर क्या करना चाहिए?

हाथ सुन्न होने पर कई तरह के घरेलू उपाय हैं जो इस लेख में दिए गए हैं। आप उन्हें आज़मा सकते हैं।

निष्कर्ष –

उम्मीद है कि आपको यह लेख में सोते समय हाथ सुन्न क्यों होते हैं इसके घरेलू इलाज क्या है? इससे जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी हम दे पाए होंगे किन्तु फिर भी यदि आपके मन में कोई सवाल है तो आप कमेंट करके अपना सवाल पूछ सकते हैं।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *