ठंडा दूध पीने के फायदे और नुकसान | Thanda doodh peene ke fayde aur nuksan hindi mei

ठंडा दूध पीने के फायदे और नुकसान | Thanda doodh peene ke fayde aur nuksan hindi mei

ठंडा दूध पीने के फायदे और नुकसान | Thanda doodh peene ke fayde aur nuksan hindi mei

हेलौ प्रिय दोस्तों, आज हम इस लेख में बात करेंगे ठंडा दूध पीने के फायदे और नुकसान के बारे में। दूध को एक आयुर्वेदिक दवाई कहा जा सकता है क्यूंकि यह औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इस लेख में हम यही जानेंगे कि ठंडा दूध पीने के फायदे और नुकसान क्या क्या है, इस में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं, और कैसी स्थिति में लेना इसे फायदेमंद होता है। दूध आसानी से किसी भी दूध डेयरी या किराने की दुकान पर पैकेट में मिल जाता है। किन्तु पैकेट की बजाय इसे सीधे फार्म से खुला लेना ज्यादा फायदेमंद होता है।

आजकल की बिजी लाइफ स्टाइल और खान-पान का असर सीधे सीधे तौर पर शरीर पर होता है। शरीर में बाहर के केमिकल्स की वजह से नई नई तरह की परेशानियां पैदा हो रही है। ऐसे में शरीर का ख्याल रखना बेहद जरूरी होता है। शरीर का ख्याल रखने और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आज के जीवन में ठंडा दूध पीने के बेहद फायदे होते है। यह शरीर को कई प्रकार से लाभ पहुँचता है। दूध का इस्तेमाल करके कई चीजे जैसे मक्खन, पनीर, दही, मिल्कशेक, आइसक्रीम आदि बनाई जाती है। किन्तु सीधे तौर पर इसे पीना ज्यादा सेहतमंद होता है। (ठंडा दूध पीने के फायदे और नुकसान)

गाय, भैंस और बकरी के दूध के अलावा भी आजकल वीगन दूध यानी ऐसा दूध जो पशुओं द्वारा ना मिला हो, काफी चलन में है। यह दूध बादाम, सोया, काजू जैसी कई प्रकार की चीजों से निकालकर बनाया जाता है। इन्हीं सब चीजों के चलते आजकल गाय और भैंस के दूध की खपत में भारी मात्रा में कमी आई है। परंतु आज भी भारत में अत्यधिक लोग गाय और दूध के भैंस का इस्तेमाल ही करते हैं। आमतौर पर ज्यादातर लोग गर्म दूध का सेवन करते हैं, लेकिन ठंडा दूध पीने से भी इसके कई अलग शारीरिक लाभ हैं, तो चलिए आज हम जानते हैं ठंडा दूध पीने के फायदे और नुकसान के बारे में।

दूध में कई प्रकार के पोषक तत्व जैसे विटामिन A, विटामिन D, विटामिन B12, कैल्शियम, पोटेशियम, फास्फोरस, नियासिन, राइबोफ्लेविन आदि पाए जाते हैं। इसलिए इसका सेवन करना काफी सेहतमंद होता है। गर्मियों में ठंडा दूध पीने से शरीर को ठंडक मिलती है। इसके साथ ही ताज़गी भरा एहसास भी होता है। गर्मियों में शरीर को हाइड्रेशन की बहुत जरूरत होती है, इसलिए हम आपको बताते चलें कि ठंडे दूध में अच्छी मात्रा में इलेक्ट्रोलाइट पाए जाते हैं इसलिए ठंडा दूध पीने से शरीर गर्मियों में हाइड्रेटेड रहता है। (ठंडा दूध पीने के फायदे और नुकसान)

ठंडा दूध पीने से वजन कम करने में सहायता मिल सकती है। इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है, जिससे काफी वक्त तक भूख नहीं लगती है और शरीर में एनर्जी भी बरकरार रहती है। ठंडा दूध पीने से पेट में होने वाली जलन और एसिडिटी की समस्या में काफी हद तक राहत मिलती है। इसके साथ ही यदि आप एक्सरसाइज करने के बाद एनर्जी ड्रिंक पीते हैं तो ठंडा दूध इसका एक बेहद अच्छा ऑप्शन है। ठंडे दूध में भरपूर मात्रा में इलेक्ट्रोलाइट पाए जाते हैं, इसलिए गर्मियों में यह शरीर को तो हाइड्रेट रखता ही है और इसके साथ ही त्वचा की स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है। (ठंडा दूध पीने के फायदे और नुकसान)

ठंडा दूध पीने के फायदे और नुकसान | Thanda doodh peene ke fayde aur nuksan hindi mei
ठंडा दूध | Cool milk

ठंडा दूध पीने के फायदे (Benefits of drinking Cold Milk in hindi) –

  • वजन कम करने के लिए ठंडा दूध पीने से फायदा मिलता है।
  • एसिडिटी की समस्या में ठंडा दूध पीने से राहत मिलती है।
  • ठंडा दूध पीने से पेट में होने वाली जलन में आराम मिलता है।
  • त्वचा के स्वास्थ्य के लिए ठंडा दूध पीना लाभदायक होता है।
  • हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए दूध पीना अच्छा होता है।
  • एक्सरसाइज करने के बाद ठंडे दूध का सेवन करने से शरीर को एनर्जी मिलती है।
  • गर्मियों में ठंडा दूध पीने से शरीर को हाइड्रेशन मिलता है।

ठंडा दूध पीने के नुकसान (Side effects of drinking Cold Milk in hindi) –

  • सर्दी जुकाम की समस्या में ठंडा दूध का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • एलर्जीक लोगों को जाहिरी तौर पर इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

यह भी पढ़े – हरी मिर्च खाने के फायदे और नुकसान | Hari mirch khane ke fayde aur nuksan hindi mei

प्याज़ खाने के फायदे और नुकसान | Pyaz khane ke fayde aur nuksan hindi mei

ठंडा दूध पीने से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल-

ठंडा दूध कब पीना चाहिए?

गर्मी के मौसम में सुबह सुबह ठंडा दूध पीने से फायदा होता है।

दूध की तासीर क्या होती है?

तासीर में दूध ठंडा होता है।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Leave a Comment

Your email address will not be published.