सल्फर के फायदे और नुकसान | Sulphur ke fayde aur nuksan hindi mei

सल्फर के फायदे और नुकसान | Sulphur ke fayde aur nuksan hindi mei

हेलौ प्रिय दोस्तों, आज हम इस लेख में बात करेंगे सल्फर के फायदे और नुकसान के बारे में। यह कई तरह के गुणों से भरपूर होता है। इस लेख में हम यही जानेंगे कि सल्फर के फायदे और नुकसान क्या क्या है, इस में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं, और शरीर में इसकी कमी से कैसी स्थिति पैदा हो सकती है। शरीर को कई तरह के पोषक तत्व जैसे कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, ज़िंक, विटामिन, फास्फोरस आदि की जरूरत होती है। ठीक उसी प्रकार से सल्फर भी शरीर के लिए बेहद आवश्यक और फायदेमंद होता है। (सल्फर के फायदे और नुकसान)

कई प्रकार के आहारों में सल्फर पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इस प्रकार नियमित रूप से इन आहारों का सेवन करने से शरीर में संतुलित मात्रा में सल्फर पहुंच सकता है। मुख्य रूप से सल्फर अंडा, दूध, डेयरी प्रोडक्टस, अंकुरित गेहूं, लहसुन, फलियां, मांस-मच्छी, पनीर, हरी सब्जियां, अखरोट, चिकन, सफेद चना, प्याज, मूंगफली, मसूर की दाल आदि में पाया जाता है। शरीर में सल्फर की पर्याप्त मात्रा दो से ढाई ग्राम तक हो सकती है। (सल्फर के फायदे और नुकसान)

सल्फर शरीर में नई सेल्स के निर्माण में काफी सहायक होता है, इसके साथ ही यह शरीर में टिशूज की ग्रोथ में भी सहायक होता है। शरीर में सल्फर की संतुलित मात्रा होने पर शरीर में एंटीऑक्सीडेंट अच्छी तरह से बनता है। नियमित रूप से सल्फर युक्त आहार करने से शरीर का डिटॉक्सिफिकेशन भी होता है, यह शरीर से जहरीले पदार्थों को निकालने में मदद करता है। डाइजेस्टिव सिस्टम अच्छा करने में भी सल्फर काफी उपयोगी होता है, यह पाचन रस बनाकर पाचन क्रिया अच्छी करने में मदद करता है। (सल्फर के फायदे और नुकसान)

जिस प्रकार सल्फर शरीर के अंदरूनी हिस्सों के लिए जरूरी है, उसी प्रकार बाहरी अंगो के लिए भी सल्फर एक महत्वपूर्ण रोल निभाता है। त्वचा और बालों के स्वास्थ्य के लिए सल्फर बेहद महत्वपूर्ण होता है। सल्फर त्वचा पर होने वाले बैक्टीरियल इनफेक्शन की समस्या को दूर करने में काफी हद तक सहायक होता है। इसी के साथ ही कील मुहासों और रेडनेस जैसी समस्याओं में भी सल्फर काफी उपयोगी होता है। सल्फर बालों को घना एवं काला बनाए रखने के लिए भी उपयोगी होता है। (सल्फर के फायदे और नुकसान)

जिस प्रकार सल्फर के शरीर में होने से शरीर को कई सारे लाभ होते हैं, उसी प्रकार शरीर में यदि सल्फर की कमी हो जाए तो कई अन्य प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं। जैसे कि हमने ऊपर बताया यह त्वचा एवं बालों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है, तो यदि सल्फर की कमी शरीर में होती है तो इसका सीधा सीधा प्रभाव त्वचा एवं बालों की सेहत पर पड़ता है। इसी प्रकार कई अन्य समस्याएं जैसे मोटापा, त्वचा संबंधी रोग, मुंहासे, शरीर में थकान, डिप्रेशन, अल्जाइमर भी शरीर में सल्फर की कमी की वजह से हो सकती हैं। (सल्फर के फायदे और नुकसान)

जिस प्रकार शरीर में संतुलित मात्रा में सल्फर होने या शरीर में सल्फर की कमी होने, दोनों ही चीजों की वजह से शरीर पर प्रभाव पड़ता है। उसी प्रकार शरीर में अधिक मात्रा में सल्फर होने की वजह से भी कई दुष्परिणाम हो सकते हैं। शरीर में अधिक मात्रा में सल्फर होने से यह दिमाग की कोशिकाओं पर बुरा असर डालता है। (सल्फर के फायदे और नुकसान)

सल्फर के फायदे (Benefits of Sulphur in hindi) –

  • नई सेल्स के निर्माण में सल्फर काफी सहायक होता है।
  • शरीर में टिशूज की ग्रोथ में भी सल्फर मदद करता है।
  • एंटी ऑक्सीडेंट बनाने के लिए भी सल्फर उपयोगी होता है।
  • सल्फर शरीर को डिटॉक्सिफाई करता है।
  • डाइजेस्टिव सिस्टम अच्छा करने के लिए भी सल्फर उपयोगी है।
  • त्वचा और बालों के सेहत के लिए भी सल्फर अच्छा होता है।
  • कील मुहासों, रेडनेस की समस्या में सल्फर उपयोगी होता है।
  • त्वचा पर बैक्टीरियल इनफेक्शन की समस्या को ठीक करने में भी सल्फर सहायक होता है।
  • सल्फर बालों को घना एवं काला बनाए रखने में मदद करता है।

सल्फर के नुकसान (Side effects of Sulphur in hindi) –

  • एलर्जीक लोगों को जाहिरी तौर पर इसका इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।
  • अधिक मात्रा में सल्फर शरीर में मौजूद होने से दिमाग की कोशिकाओं पर बुरा असर पड़ता है।
  • सल्फर के किसी भी तरह का सप्लीमेंट लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

यह भी पढ़े – बादाम रोगन तेल के फायदे और नुकसान | Badam Roghan tel ke fayde aur nuksan hindi mei

फिश ऑयल कैप्सूल के फायदे और नुकसान | Fish oil capsule ke fayde aur nuksan hindi mei

सल्फर से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

सल्फर का उपयोग कब करना चाहिए?

सल्फर के सप्लीमेंट्स का उपयोग सिर्फ और सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए।

सल्फर की कमी से कौन सा रोग होता है?

सल्फर की कमी से शरीर में दिमाग की कोशिकाओं पर बुरा असर पड़ता है, इसके साथ ही कई अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.