शंखपुष्पी सिरप के फायदे और नुकसान | Shankhpushpi Syrup ke fayde or nuksan hindi mei

शंखपुष्पी सिरप के फायदे और नुकसान | Shankhpushpi Syrup ke fayde or nuksan hindi mei

शंखपुष्पी सिरप के फायदे और नुकसान | Shankhpushpi Syrup ke fayde or nuksan hindi mei

हैलो प्रिय दोस्तों, आज हम इस लेख में जानेंगे शंखपुष्पी सिरप के फायदे और नुकसान। शंखपुष्पी सिरप एक ओरल सप्लीमेंट है। मूलतः शंखपुष्पी एक प्रकार का पौधा है। यह मुख्य रूप से फूलों के आधार पर तीन प्रकार का होता है, लाल फूलों वाला शंखपुष्पी, नीला फूलों वाला शंखपुष्पी और सफेद फूल वाला शंखपुष्पी। यह औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इसमे से सफेद फूलों वाला शंखपुष्पी सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है।

शंखपुष्पी सिरप बिना डॉक्टर के परामर्श के भी ली जा सकती है, यह शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए भी इस्तेमाल की जा सकती है। शंखपुष्पी सिरप मुख्य रूप से नर्वस सिस्टम की सेहत के लिए इस्तेमाल की जाती है। इसमें प्रमुख पोषक तत्व जैसे ही ट्राइपटेनोइड, स्टेरॉयड, एंथोसायनिन और फ्लेवोनॉल ग्लाइकोसाइड आदि पाए जाते हैं। यह तत्व मेमोरी पावर और दिमाग की शक्ति बढ़ाते हैं। इसके साथ ही शंखपुष्पी सिरप में अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व भी पाए जाते हैं।

हाइपरसेंसेटिव की समस्या में भी शंखपुष्पी सिरप को पीने के फायदे सामने आए हैं। हाइपरसेंसटिविटी की समस्या में मनुष्य को अपने विचारों और भावनाओं पर कंट्रोल नहीं रहता है। ओवरथिंकिंग करना हाइपरसेंसटिविटी का ही एक लक्षण है। इसके चलते मनुष्य चिंता, तनाव और डिप्रेशन का शिकार हो सकता है। नियमित रूप से शंखपुष्पी सिरप का सेवन करने से हाइपरसेंसटिविटी की समस्या से निजात पाई जा सकती है।

शंखपुष्पी सिरप में पाए जाने वाला नोट्रोपिक दिमाग की रिलैक्सेशन में मदद करता है। शंखपुष्पी सिरप में एंटी-स्ट्रेस प्रॉपर्टी पाई जाती है। इससे दिमाग तनाव मुक्त होता है और दिमाग का कंसंट्रेशन बढ़ता है। यदि आपका दिमाग तनावमुक्त रहेगा आपकी कंसंट्रेशन बढ़ेगी तो इससे अनिद्रा की समस्या भी दूर हो सकती है। दिमाग रिलैक्स रहेगा तो नींद भी अच्छी आएगी। दिमागी परेशानी से होने वाले सिर दर्द यानी तनाव, डिप्रेशन या टेंशन के कारण होने वाले सिर दर्द से भी शंखपुष्पी सिरप का सेवन करने से फायदा मिलता है। (शंखपुष्पी सिरप के फायदे और नुकसान)

आजकल बच्चों में ADHD यानी अटेंशन डेफिसिट हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर कॉमनली पाया जाता है। हाइपरसेंसटिविटी और कंसंट्रेशन की कमी इस बीमारी के दो मुख्य लक्षण है, इसलिए शंखपुष्पी सिरप का सेवन करने से इस बीमारी में काफी फायदा मिलता है। इसी के साथ, शंखपुष्पी सिरप मानसिक रोगों के साथ-साथ हाई ब्लड प्रेशर, अल्सर, डायबिटीज आदि रोगों में भी फायदेमंद पाई गई है।खांसी की समस्या में भी शंखपुष्पी सिरप का सेवन करना लाभकारी हो सकता है। (शंखपुष्पी सिरप के फायदे और नुकसान)

जिस तरह हर सिक्के के 2 पहलू होते हैं उसी तरह शंखपुष्पी सिरप के फायदे के साथ-साथ इसके कुछ नुकसान भी हैं। जी हां, दवाइयों के नुकसान भी हो सकते हैं इसलिए इन्हें डॉक्टर की परामर्श से ही लेना चाहिए। मुख्य रूप से जब आप किसी गंभीर बीमारी से गुजर रहे हैं या गर्भावस्था के दौरान भी कोई भी दवाई डॉक्टर की सलाह पर ही लेनी चाहिए। (शंखपुष्पी सिरप के फायदे और नुकसान)

शंखपुष्पी सिरप के फायदे और नुकसान | Shankhpushpi Syrup ke fayde or nuksan hindi mei
शंखपुष्पी सिरप

शंखपुष्पी सिरप के फायदे (Benefits of Shankhpushpi Syrup in hindi) –

  • शंखपुष्पी सिरप का सेवन करने से मेमोरी पावर बढ़ती है।
  • इसका सेवन करने से मानसिक तनाव में राहत मिलता है।
  • शंखपुष्पी सिरप को सेवन करने से चिंता, तनाव और डिप्रेशन में फायदा मिलता है।
  • हाइपरसेंसटिविटी और हाइपरटेंशन की समस्या में भी शंखपुष्पी सिरप का सेवन करना लाभदायक होता है।
  • ADHD (अटेंशन डेफिसिट हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर) की बीमारी में भी शंखपुष्पी सिरप का सेवन करना फायदेमंद होता है।
  • शंखपुष्पी सिरप का सेवन मानसिक बीमारियों के साथ-साथ हाई ब्लड प्रेशर, अल्सर, डायबिटीज में भी कारगर साबित हुआ है।
  • शंखपुष्पी सिरप का सेवन करने से कंसंट्रेशन बढ़ता है।

शंखपुष्पी सिरप के नुकसान (Side effects of Shankhpushpi Syrup in hindi) –

  • एलर्जीक लोगों को जाहिरी तौर पर इसका इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर की सलाह से ही किसी भी दवाई का सेवन करना चाहिए।

इन सिरप के बारे में भी पढ़िए – डेक्सोरेंज सिरप के फायदे और नुकसान | Dexorange syrup ke fayde aur nuksan hindi mei

अल्कासोल सिरप के फायदे और नुकसान | Alkasol Syrup ke fayde aur nuksan hindi mei

शंखपुष्पी सिरप से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

शंखपुष्पी सिरप पीने से क्या फायदा होता है?

शंखपुष्पी सिरप के मुख्य फायदे मस्तिष्क से जुड़े हुए हैं।

शंखपुष्पी सिरप कैसे पिए?

कोई भी सिरप डॉक्टर की सलाह पर पीना ही अच्छा होता है।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.