सौंफ और मिश्री का पानी पीने के फायदे और नुकसान | Saunf aur mishri ka paani peene ke fayde aur nuksan hindi mei

सौंफ और मिश्री का पानी पीने के फायदे और नुकसान | Saunf aur mishri ka paani peene ke fayde aur nuksan hindi mei

सौंफ और मिश्री का पानी पीने के फायदे और नुकसान | Saunf aur mishri ka paani peene ke fayde aur nuksan hindi mei

हेलौ प्रिय दोस्तों, आज हम इस लेख में बात करेंगे सौंफ और मिश्री का पानी पीने के फायदे (Saunf aur mishri ka paani peene ke fayde aur nuksan) के बारे में। आजकल की बिजी लाइफ स्टाइल और खान-पान का असर सीधे तौर पर शरीर पर होता है। हमारी जीवन शैली अत्यधिक व्यस्त होने की वजह से हम शरीर पर कम ध्यान दे पाते हैं इसका सीधा सीधा असर हमारे शरीर पर ही पड़ता है। इसी वजह से कई प्रकार की परेशानियां शरीर को घेर लेती है। आज हम यही जानेंगे की सौंफ और मिश्री का पानी पीने से शरीर की कौन सी समस्याओं को ठीक किया जा सकता है।

सौंफ एक प्रकार का मसाला होती है। यह पौधे में लगती है। भारत में कई प्रदेशों में इसकी खेती की जाती है। सौंफ का उपयोग न केवल मसाले के तौर पर बल्कि कई अन्य दूसरी चीजों में भी किया जाता है। मीठी सौंफ का सेवन मुँह को फ्रेश करने के लिए किया जाता है। इसके साथ ही इसे खाने के बाद भी खाया जाता है। कई खाद्य पदार्थों जैसे अचार, सौंफ का शर्बत, सौंफ के लड्डू, सौंफ का मुखवास में भी मुख्य रूप से सौंफ का इस्तेमाल किया जाता है। (Saunf aur mishri ka paani peene ke fayde aur nuksan)

मिश्री की बात करें तो, मिश्री का निर्माण चीनी की ही तरह गन्ने के रस से किया जाता है किंतु इसमें केमिकल्स का उपयोग नहीं होता है। क्रिस्टलाइज़ेशन की प्रक्रिया के द्वारा मिश्री को बनाया जाता है। इसे धागे का इस्तेमाल करके बनाते हैं। मिश्री को बनाने के लिए गन्ने के रस का गाढ़ा घोल तैयार करते है। जिसमे किसी भी प्रकार की गंदगी या अशुद्धि नहीं होती है। अब इस घोल में धागा डाल कर छोड़ देते हैं। फिर इस धागे में प्राकृतिक रूप से अपने आप मिश्री के क्रिस्टल बनते हैं। मिश्री, चीनी के मुकाबले ज्यादा सेहतमंद और शुद्ध होती है।

सौंफ और मिश्री का मिश्रण तासीर में ठंडा होता है। यह एक कमाल का मेल है। सौंफ और मिश्री के कई शारीरिक लाभ और अनगिनत फायदे हैं। इन्हे न सिर्फ साथ में खाया जा सकता है बल्कि सौंफ और मिश्री के अर्क वाले पानी को पीने के भी बेहद फायदे होते हैं। इसकी तासीर ठंडी होने की वजह से यह शरीर को ठंडा और फ्रेश रखने में मदद करते हैं। इसके साथ ही इसके और भी कई शारीरिक फायदे होते हैं। इसका सेवन करने के लिए रात में सौंफ और मिश्री को पानी में डाल कर रख दें और सुबह इसका पानी पीएं। (Saunf aur mishri ka paani peene ke fayde aur nuksan)

सौंफ और मिश्री का पानी पीने के फायदे (Benefits of drinking fennel and sugar candy water in hindi) –

  • सौंफ और मिश्री का पानी पीने से पाचन शक्ति बढ़ती है।
  • गर्मियों में सौंफ और मिश्री का पानी पीने से शरीर को तरावट मिलती है।
  • सौंफ और मिश्री का पानी पीने से गैस की समस्या में राहत मिलती है।
  • सौंफ और मिश्री का पानी पीने से कब्ज़ और अपच जैसे समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है।
  • सौंफ और मिश्री में कई प्रकार के पोषक तत्व जैसे विटामिन, फाइबर, कैल्शियम आदि पाए जाते हैं।
  • सौंफ और मिश्री में एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी फंगल और एंटी बेक्टीरियल प्रॉपर्टीज भी पायी जाती है।
  • सौंफ और मिश्री का पानी पीने से पेट में होने वाली जलन से छुटकारा मिलता है।
  • आँखों की अच्छी सेहत के लिए सौंफ और मिश्री का पानी पीना लाभदायक होता है।
  • सौंफ और मिश्री का पानी पीने से माहवारी के दौरान होने वाली परेशानियों से राहत मिल सकती है।

सौंफ और मिश्री का पानी पीने के नुकसान (Side effects of drinking fennel and sugar candy water in hindi) –

  • डायबिटीज़ के मरीजों को इसका सेवन करने से बचना चाहिए।
  • अधिक मात्रा में सौंफ और मिश्री का पानी पीने से सर्दी जुकाम की समस्या हो सकती है।
  • एलर्जिक लोगों को इसका मिश्रण पीने से बचना चाहिए।

यह भी पढ़े – खूब पानी पीने के फायदे और नुकसान | Khoob paani peene ke fayde aur nuksan hindi mei

बासी मुंह पानी पीने के फायदे और नुकसान | Baasi munh paani peene ke fayde aur nuksan hindi mei

सुबह खाली पेट सेब खाने के फायदे और नुकसान | Subah khali pet seb khane ke fayde aur nuksan hindi mei

सेब खाने के फायदे और नुकसान | Seb khane ke fayde aur nuksan hindi mei

सौंफ और मिश्री के पानी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

सौंफ और मिश्री का पानी पीने से क्या होता है?

सौंफ और मिश्री का पानी पीने से कई प्रकार के शारीरिक लाभ होते हैं, जो इस लेख में ऊपर दिए गए हैं।

सौंफ और मिश्री का पानी कैसे बनाएं?

सौंफ और मिश्री का पानी बनाने के लिए, सौंफ और मिश्री को रात भर किसी मिट्टी के बर्तन में पानी के साथ डाल कर रखें। फिर सुबह छान कर इसका सेवन करें। मिट्टी के अलावा कोई भी तरह के बर्तन में इन्हे गलाया जा सकता है किन्तु मिट्टी के बर्तन में कोई भी चीज का गुण बरकरार रहता है, जबकि दूसरे धातु के बर्तन में किसी चीज का गुण कम हो सकता है या उसमे उस धातु के पदार्थ मिल सकते हैं।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.