पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान | Posta Dana ke fayde aur nuksan hindi mei

पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान | Posta Dana ke fayde aur nuksan hindi mei

पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान | Posta Dana ke fayde aur nuksan hindi mei

हेलौ प्रिय दोस्तों, आज हम इस लेख में बात करेंगे पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान के बारे में। पोस्ता दाना को एक आयुर्वेदिक दवाई कहा जा सकता है। यह औषधीय गुणों से भरपूर होता है। भारत में आमतौर पर पोस्ता दाना को खस-खस, खस के बीज या पॉपी सीड्स भी कहा जाता है। इस लेख में हम यही जानेंगे कि पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान क्या क्या है, इस में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं, और कैसी स्थिति में लेना इसे फायदेमंद होता है। (पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान)

पोस्ता दाना या खस-खस एक तिलहन प्रजाति की फसल होती है। पोस्ता दाना का आकार काफी बारीक और किडनी जैसा होता है। भारत में मुख्य रूप से पोस्ता दाना यानी खसखस की खेती दक्षिण भारत, राजस्थान, बंगाल, महाराष्ट्र आदि में की जाती है। खसखस के पौधे से मिलने वाले इन पोस्ता दाना का मूल्य बेहद ज्यादा होता है। यह काफी महंगे दामों में बाजारों में मिलते हैं। आयुर्वेद में पोस्ता दाना का एक महत्वपूर्ण स्थान है, क्योंकि इसके औषधीय गुण बहुत सारे होते हैं। (पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान)

पोस्ता दाना यानी खसखस में कई प्रकार के पौष्टिक तत्व जैसे ओमेगा 6, ओमेगा 3, पोटेशियम, मैग्नीशियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन, कैल्शियम आदि पाए जाते हैं। इसके साथ ही इसमें एंटी फंगल, एंटी बैक्टीरियल, एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट जैसी प्रॉपर्टीज भी पाई जाती है। पोस्ता दाना यानी खसखस की तासीर ठंडी होती है। इसलिए गर्मियों में इसका सेवन करने से ज्यादा शारीरिक लाभ होते हैं। पोस्ता दाना यानी खसखस का सेवन से पेशाब के दौरान होने वाली जलन से छुटकारा पाया जा सकता है। (पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान)

पोस्ता दाना यानी खसखस तासीर में ठंडा होने की वजह से पेट की गर्मी को ठीक करने में बेहद फायदेमंद होता है। इसके साथ ही शरीर का तापमान संतुलित बनाए रखने में भी या मदद करता है। पेट से जुड़ी अन्य बीमारियां जैसे कब्ज, गैस आदि समस्याओं में भी पोस्ता दाना यानी खसखस का सेवन करना अच्छा होता है। साथ ही इसका सेवन करने से मानसिक तनाव से भी राहत मिलती है यह थकान को दूर करके दिमाग को आराम देता है, जिससे अनिद्रा जैसी समस्या से भी छुटकारा पाया जा सकता है। (पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान)

पोस्ता दाना यानी खसखस का सेवन करने से पेट काफी देर तक भरा हुआ लगता है इससे वजन नियंत्रित करने में काफी हद तक सहायता मिलती है। इसके साथ ही इसका सेवन करने से शरीर में खून की मात्रा भी बढ़ती है, क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है। पोस्ता दाना यानी खसखस में एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी पाई जाती है। जिसकी वजह से जोड़ों का दर्द, सूजन या कमजोर हड्डियां ऐसी समस्या में पोस्ता दाना का सेवन करने से काफी राहत मिलती है, क्योंकि इसमें अच्छी खासी मात्रा में कैल्शियम भी पाया जाता है। (पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान)

त्वचा और बालों के स्वास्थ्य के लिए भी पोस्ता दाना यानी खसखस बेहद फायदेमंद होता है। परन्तु जिस प्रकार हर सिक्के के 2 पहलू होते हैं उसी प्रकार जहां एक ओर पोस्ता दाना यानी खसखस के इतने फायदे हैं वहीं दूसरी ओर इसके कुछ नुकसान भी हैं। अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से शरीर को दुष्परिणाम झेलने पड़ सकते हैं। इसके साथ ही गर्भवती एवं स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को भी इसका सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए। (पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान)

पोस्ता दाना के फायदे और नुकसान | Posta Dana ke fayde aur nuksan hindi mei
पोस्ता दाना/ खस-खस | Posta Dana/Khus Khus

पोस्ता दाना के फायदे (Benefits of Poppy Seeds in hindi) –

  • पोस्ता दाना का सेवन करने से मुंह के छाले ठीक हो सकते हैं।
  • गर्मी में इसका सेवन करने से शरीर और पेट ठंडा रहता है।
  • पेशाब के दौरान होने वाली जलन पोस्ता दाना का सेवन करने से ठीक हो सकती है।
  • मानसिक और शारीरिक तनाव के लिए पोस्ता दाना के जूस का सेवन करना चाहिए।
  • पोस्ता दाना का सेवन करने से अनिद्रा जैसी समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।
  • पेट से जुड़ी बीमारियां जैसे कब्ज, अपच, गैस आदि से छुटकारा भी पाया जा सकता है।
  • हड्डियां मजबूत करने के लिए भी पोस्ता दाना का सेवन किया जा सकता है।
  • पोस्ता दाना का सेवन करने से शरीर में रक्त की मात्रा बढ़ती है।
  • त्वचा और बालों के स्वास्थ्य के लिए पोस्ता दाना काफी सेहतमंद होता है।

पोस्ता दाना के नुकसान (Side effects of Poppy Seeds in hindi) –

  • गर्भवती एवं स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को इसका सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए।
  • गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों को भी इसका सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए।
  • अधिक मात्रा में पोस्ता दाना का सेवन करने से श्वास संबंधी समस्याएं हो सकती है।

इन घरेलू इलाज के बारे में भी पढ़े – नाक में घी डालने के फायदे और नुकसान | Naak mei ghee dalne ke fayde aur nuksan hindi mei

पनीर के फूल के फायदे और नुकसान | Paneer ke phool ke fayde aur nuksan hindi mei

पोस्ता दाना से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

पोस्ता दाना कैसे खाना चाहिए?

पोस्ता दाना को सीधे तौर पर भी खाया जा सकता है। इसके साथ ही इसका बादाम और सौंफ के साथ जूस बना कर या फिर हलवा बनाकर भी खाया जा सकता है।

पोस्ता और खसखस में क्या अंतर है?

पोस्ता और खसखस दोनों एक ही होते हैं।

पोस्ता दाना क्या होता है?

खसखस के बीजों को पोस्ता दाना भी कहा जाता है।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.