पपीता खाने के फायदे और नुकसान | Papeeta khane ke fayde aur nuksan

पपीता खाने के फायदे और नुकसान | Papeeta khane ke fayde aur nuksan hindi mei

पपीता खाने के फायदे और नुकसान | Papeeta khane ke fayde aur nuksan hindi mei

पपीता एक तरह का फल है जिसको अंग्रेजी में पपाया(PAPAYA) कहा जाता है। पपीता का वैज्ञानिक नाम कॅरिका पपाया (Carica papaya) है। पपीता औषधीय उपयोग के लिए भी जाना जाता है। पपीता खाने में तो स्वादिष्ट होता ही है साथ ही स्वास्थ के लिए भी लाभकारी होता है। पपीता मानव शरीर में भूख और शक्ति दोनों उत्पन्न करता है। पपीता जब कच्ची अवस्था में होता है तब बहार से हरे रंग का होता है और पकने के बाद पिले रंग का हो जाता है। (पपीता खाने के फायदे और नुकसान)

पपीता के औषधीय गुण पीलिया और डेंगू के इलाज के लिए काफी जाने जाते है, शरीर में डेंगू की वजह से जो प्लेटलेट्स में कमी हो जाती है उसपर भी डॉक्टर्स पपीता के सेवन और इसके पत्तो के रस का सेवन करने की सलाह देते है। इसके कच्चे फल से सफ़ेद दूध की तरह तरल पदार्थ निकाला जाता है जिससे पपेन तैयार किया जाता है, पपेन से पाचन तंत्र सम्बन्धी ओषधिया तैयार की जाती है। (पपीता खाने के फायदे और नुकसान)

पपीते में विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन डी और केल्शियम, आयरन, प्रोटीन आदि पोषक तत्त्व अधिक मात्रा में पाए जाते है। पपीता के सेवन से त्वचा रोग से भी छुटकारा मिलता है। पपीता से पाचन शक्ति भी मज़बूत होती है और मूत्राशय में होने वाली बीमारी से भी नजात मिलती है। पपीता से खांसी में आने वाले खून से भी छुटकारा मिलता है। कच्चे पपीता की सब्ज़ी बना कर खाने से मेमोरी पावर भी तेज़ होती है। पपीता का सेवन मोटापे की समस्या से भी छुटकारा दिलाने में असरदार साबित हो सकता है।

पपीता एक ऐसा फल है जो कही भी आसानी से उपलब्ध हो जाता है। पपीता का पौधा आप अपने आँगन में भी लगा सकते है। यह पपीता का फल उन फलों में से है जिन्हे कच्चा होने पर भी उपयोग में लाया जा सकता है। खाने के लिहाज़ से पपीता काफी आसान फल होता है क्योकि इसका छिलका काफी मुलायम होता है जो आसानी से उतर जाता है और इसके अंदर के छोटे-छोटे बीज क़ाफी आसानी से साफ़ हो जाते है।

पोषक तत्वों से भरपूर पपीता के कई महत्वपूर्ण फायदों के साथ-साथ इसके कुछ नुकसान भी है, डॉक्टर्स की माने तो यह एक पेचीदा फल है जिसके फायदों और नुकसान का पता लगाना काफी मुश्किल काम है लेकिन हम आपको इस लेख में पपीता के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने की कोशिश करेंगे। (पपीता खाने के फायदे और नुकसान)

पपीता (Papaya)

पपीता खाने के फायदे –

  • पपीता में काफी मात्रा में फाइबर के तत्व पाए जाते है साथ ही इसमें विटामिन C और एंटी ऑक्सीडेंट के तत्व भीं पाए जाते है जिसकी वजह से इसके सेवन से कोलेस्ट्राल को नियंत्रण में किया जा सकता है।
  • अगर आप मोटापे से परेशां है और वजन घटाने का प्लान कर रहे है तो अपनी डाइट में पापीते को जरूर शामिल करे।
  • अगर आपकी रोग प्रतिरोधक छमता अच्छी हो तो आप कई रोगों से दुरी बना कर रख सकते है ऐसे में पपीता का सेवन रोग प्रतिरोधक छमता बढ़ाने में काफी कारगार साबित हो सकता है।
  • पपीता में विटामिन C के साथ ही विटामिन A के पोषक तत्व भी पर्याप्त मात्रा में पाए जाते है। विटामिन A आँखों की रौशनी बढ़ाने के साथ-साथ ही बढ़ती उम्र से जुड़ी कई तरह की समस्याओ का समाधान करने में सक्षम माना गया है।
  • पपीते के सेवन से पाचन क्रिया ठीक रहती है।
  • कई महिलाये पीरियड्स के दर्द से असहज रहती है ऐसे में पपीते का सेवन पीरियड्स को नियमित रखने के साथ ही पीरियड्स में होने दर्द से भी राहत दिलाता है।
  • मधुमेह के रोगियों के लिए पपीता का सेवन एक अच्छा विकल्प है क्योकि इसमें एंटी ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते है।
  • पपीता फाइबर, पोटेशियम और विटामिन से भरपूर होता है जो हृदय रोगों को दूर रखने में मदद करता है। हृदय रोगों के नुकसान को कम करने के लिए डॉक्टर पोटेशियम के अधिक सेवन की सलाह देते हैं जो पपीता में अधिक पायी जाती है।
  • पपीते में अल्फा-हाइड्रॉक्सी एसिड का तत्व पाया जाता है यह एक ऐसा तत्व होता है जो त्वचा को चिकना और चमकदार बनाता है जिसकी वजह से बढ़ती उम्र में दिखने वाली झुर्रिया भी दिखाई नहीं देती।

पपीता खाने के नुकसान –

  • गर्भवती महिलाओ को पपीता के सेवन से बचना चाहिए क्योकि पपीते में मौजूद पपैन की वजह से भ्रूण की झिल्ली पर बुरा असर पड़ सकता है।
  • अगर आपको किडनी में पथरी की समस्या है तो आपको पपीता के सेवन से बचना चाहिए क्योकि इससे पथरी बढ़ सकती है।
  • पपीता में एक तरह का एंजाइम होता है जिससे एलर्जेटीक समस्या हो सकती है जिसकी वजह से सांस फूलना, खांसी चलना आदि समस्याएं हो सकती है।
  • अगर आप अस्थमा के मरीज़ है तो आपको पपीता के सेवन से बचना चाहिए क्योकि इससे आपको अधिक नुकसान हो सकता है।हेल्थ एक्सपर्ट्स की माने तो पपीते में मौजूद पपाइन और बीटा कैरोटीन इस बीमारी के लिए नुकसानदायक हैं।
  • हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार हृदय रोगों के ​मरीजों के लिए भी पपीते का अधिक सेवन नुकसान पंहुचा सकता है। पपीते के अधिक सेवन से हार्ट बीट भी स्लो हो सकती है। बीपी के रोगीयो को भी इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।

1 छोटी पपीता (150 ग्राम्स) के पोषक तत्व-

कैलोरी59
कार्बोहायड्रेट15 ग्राम्स
प्रोटीन1 ग्राम्स
विटामिन सीअनुशंसित आहार सेवन का 157%
विटामिन अनुशंसित आहार सेवन का 33%
फोलेट(विटामिन बी9)अनुशंसित आहार सेवन का 14%
पोटैशियमअनुशंसित आहार सेवन का 11%
फाइबर3 ग्राम्स
सोर्स – healthline.com

यह भी पढ़ेप्याज़ खाने के फायदे और नुकसान | Pyaz khane ke fayde aur nuksan

पपीता कब नहीं खाना चाहिए?

पपीता रात के समय नहीं खाना चाहिए। पपीता पाचन तंत्र के लिए बहोत अच्छा होता है लेकिन रात को खाना खाने के बाद पपीता के सेवन से परहेज़ करना चाहिए क्योकि खाने के बाद यह पेट के लिए हानिकारक हो सकता है क्योकि पपीता थोड़ा भारी भी होता है।

पपीता कब और कितना खाना चाहिए?

पपीता सुबह के वक़्त खाना चाहिए और इसको आप एक कटोरी की मात्रा में खा सकते है।

पपीता गर्म होता है क्या?

जी हाँ। पपीता एक गर्म तासीर वाला फल है।

क्या खाली पेट पपीता खाया जा सकता है?

जी हाँ। खाली पेट पपीता खाने से पेट की सफाई अच्छी तरह से होती है।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, यदि आपको कोई भी समस्या हो तो पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य ले।

Leave a Comment

Your email address will not be published.