कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान क्या है? | Kanchnar Guggul ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei

कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान क्या है? | Kanchnar Guggul ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei

कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान क्या है? | Kanchnar Guggul ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei

हेलौ प्रिय दोस्तों, आज हम इस लेख में बात करेंगे कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान (Kanchnar Guggul ke fayde aur nuksan) के बारे में। यह एक आयुर्वेदिक दवाई है। यह औषधीय गुणों से भरपूर होती है। इस लेख में हम यही जानेंगे कि कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान क्या क्या है, इस में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं, और कैसी स्थिति में लेना इसे फायदेमंद होता है। भारत में बहुत सारे ब्रांड कांचनार गुग्गुल दवाई का निर्माण करते हैं। यह काफी किफायती दामों में बाजार में उपलब्ध होती है। (कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान क्या है?)

आजकल की बिजी लाइफ स्टाइल और खान-पान का असर सीधे सीधे तौर पर शरीर पर होता है। शरीर में बाहर के केमिकल्स की वजह से नई नई तरह की परेशानियां पैदा हो रही है। ऐसे में शरीर का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। कांचनार गुग्गुल एक आयुर्वेदिक दवाई है जो केमिकल से फ्री है। इसलिए शरीर की कुछ समस्याओं के लिए इसका उपयोग करना पूरी तरह से सुरक्षित है। फिर भी कोई भी दवा का इस्तेमाल ऐसे ही नहीं करना चाहिए बल्कि डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए। (कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान क्या है?)

कांचनार गुग्गुल में कई प्रकार की औषधियां जैसे कांचनार, सोंठ, गुग्गुल, दालचीनी, छोटी इलायची तेज पत्र आंवला, बहेड़ा, हरीतकी, वरुणत्वक आदि पाई जाती है। जैसा कि नाम से ही ज्ञात है इनमें से गुग्गुल और कांचनार इस दवाई के मुख्य की औषधियां है। जहां इन सभी औषधियों के अपने-अपने गुण हैं, वहीं जब या एक साथ कांचनार गुग्गुल में मिल जाती है तो यह बेहद फायदेमंद हो जाती है। इसलिए इसका सेवन फायदेमंद होता है। (कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान क्या है?)

कचनार एक वृक्ष है जिसमें गुलाबी कलर के बेहद सुंदर फूल लगते हैं। इसका वैज्ञानिक नाम बौहीनिया वेरिएगाटा (Bauhinia Variegata) होता है। इसे मुख्य रूप से भारत में जंगली जगहों पर पाया जा सकता है। कचनार का वृक्ष औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इसके हर हिस्से में कुछ न कुछ औषधीय गुण होते हैं। वहीं गुग्गुल भी एक वृक्ष है जिसमे गोंद जैसा चिप चिपा पदार्थ लगता है, जो औषधीय गुणों से भरपूर होता है। (कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान क्या है?)

कांचनार गुग्गुल के कई फायदे हैं।परंतु उसका इस्तेमाल बिना डॉक्टर की सलाह पर नहीं करना चाहिए। मुख्य रूप से इसका इस्तेमाल हार्मोन असंतुलन एवं गले से जुड़े कुछ समस्याओं के लिए किया जा सकता है। कुछ लोगों को आयुर्वेदिक दवाइयों से एलर्जी भी हो जाती है, इसलिए किसी भी रूप में इसका इस्तेमाल करने से पहले आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह जरूर लें। तो चलिए अब जानते हैं कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान

कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान क्या है? | Kanchnar Guggul ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei
कांचनार गुग्गुल के फायदे और नुकसान क्या है?

कांचनार गुग्गुल के फायदे (Benefits of Kanchnar Guggul in hindi) –

  • कांचनार गुग्गुल शरीर से टॉक्सिंस बाहर निकालने में मदद करती है।
  • यह पाचन क्रिया अच्छी करने में भी सहायक होती है।
  • कांचनार गुग्गुल खून को साफ करने में सहायक होती है।
  • गाढ़े खून को पतला करने में भी इसके फायदे देखे गए हैं।
  • कांचनार गुग्गुल गले से कफ को साफ करने का कार्य भी करती है।
  • वजन कम करने के लिए कांचनार गुग्गुल का सेवन किया जा सकता है।
  • शरीर पर गांठे की समस्या यानी लाइपोमा में भी कांचनार गुग्गुल के फायदे देखे गए हैं।
  • थायराइड की समस्या में भी कांचनार गुग्गुल के फायदे देखे गए हैं।
  • पीसीओडी की समस्या में कांचनार गुग्गुल का सेवन किया जाता है।
  • असंतुलित हार्मोन को ठीक करने के लिए भी कांचनार गुग्गुल सहायक होती है।

कांचनार गुग्गुल के नुकसान (Side effects of Kanchnar Guggul in hindi) –

  • गंभीर समस्या से पीड़ित लोगों को डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करना चाहिए।
  • अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से अपच जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

यह भी पढ़े – कुमारी आसव के फायदे और नुकसान | Kumari Asav ke fayde aur nuksan hindi mei

श्वासारि वटी के फायदे और नुकसान | Swasari Vati ke fayde aur nuksan hindi mei

मुक्ता वटी के फायदे और नुकसान | Mukta Vati ke fayde aur nuksan hindi mei

कांचनार गुग्गुल से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

कचनार की तासीर क्या है?

कचनार की तासीर ठंडी होती है।

कांचनार गुग्गुल कौन कौन सी कंपनियां बनाती हैं?

कांचनार गुग्गुल डाबर, वैद्यनाथ, दिव्य आदि कई कंपनियां बनती है।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.