कलौंजी के फायदे और नुकसान | Kalonji ke fayde aur nuksan hindi mei

कलौंजी के फायदे और नुकसान | Kalonji ke fayde aur nuksan hindi mei

कलौंजी के फायदे और नुकसान | Kalonji ke fayde aur nuksan hindi mei

कलौंजी एक पौधे का बीज है, जो रंग में काला और आकार में छोटा और खुरदुरा होता है। भारत के साथ साथ यह बांग्लादेश और पाकिस्तान में भी खाया जाता है। इसका उपयोग सब्जी में बगार लगाकर, ब्रेड के ऊपर लगाकर, पराठे के ऊपर लगाकर या और अन्य रूपों में किया जा सकता है। कलौंजी के बीज से तेल भी निकाला जा सकता है। कलौंजी के बीज का सेवन करने से बहुत सारे फायदे हैं इसके साथ ही इसके कुछ नुकसान भी है। इसी विषय पर आज हम चर्चा करेंगे कि कलौंजी के क्या-क्या फायदे और नुकसान होते हैं। (कलौंजी के फायदे और नुकसान)

कलौंजी में कई तरह के पोषक तत्व जैसे अमीनो एसिड, प्रोटीन, फैटी एसिड, आयरन, सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम, वाष्पित तेल ( जैसे निजेलोन, थाइमोक्विनोन, साइमिन, लिमोनिन आदि), विटामिन ए, विटामिन बी, मैग्नीशियम, जिंक आदि पाए जाते हैं। निजेलोन में एंटी-हिस्टेमीन प्रॉपर्टी होती है, जो श्वास संबंधी बीमारियों को ठीक करने में मदद करती है। वहीं कलौंजी में पाए जाने वाला थाइमोक्विनोन तेल कैंसर से लड़ने में मदद करता है। (कलौंजी के फायदे और नुकसान)

नियमित रूप से कलौंजी का सेवन करने से शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है। कलौंजी खाने से वजन कम करने में भी सहायता मिलती है। इसी के साथ कलौंजी में एंटी-डायबिटीक प्रॉपर्टी भी होती है, यह ब्लड शुगर लेवल को संतुलित बनाए रखने में मदद करती है। शुगर के साथ-साथ ब्लड प्रेशर की समस्या में भी कलौंजी काफी फायदेमंद होती है। यह हाई ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करती है। (कलौंजी के फायदे और नुकसान)

कलौंजी में एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी होती है।जिसकी वजह से सूजन आने वाले स्थान पर यदि कलौंजी का तेल लगाया जाए तो वह काफी फायदेमंद होता है। कलौंजी का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है और इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होता है। कलौंजी में मौजूद थाइमोक्विनोन लीवर को डैमेज होने से बचाता है। इसके साथ ही किडनी स्टोन को कम करने में भी कलौंजी का फायदा देखा गया है। कलौंजी में एंटी ऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा होती है जो पुरूषों में बांझपन की समस्या को ठीक करने में मदद करती है। इसके नियमित उपयोग से स्पर्म काउंट और उनकी गुणवत्ता में बढ़ोतरी हो सकती है।

हर सिक्के के दो पहलू होते हैं जहां एक ओर कलौंजी खाने के या फिर कलौंजी का तेल इस्तेमाल करने के इतने फायदे हैं वहीं दूसरी और इसके कुछ नुकसान भी हो सकते है। हालांकि कलौंजी के कोई गंभीर नुकसान अब तक सामने नहीं आए हैं। फिर भी त्वचा पर इसके तेल का इस्तेमाल करने से पहले इसका पैच टेस्ट लेना जरूरी है, इससे एलर्जी भी हो सकती है। लो ब्लड प्रेशर की समस्या में भी कलौंजी का सेवन हानिकारक हो सकता है।

कलौंजी के फायदे (Benefits of Kalonji/Black Seeds in hindi) –

  • कलौंजी का सेवन करने से कैंसर होने की संभावनाएं कम हो जाती है।
  • नियमित रूप से कलौंजी खाने से शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है वह अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है।
  • वजन कम करने के लिए भी कलौंजी खाना फायदेमंद होता है।
  • शुगर की बीमारी में कलौंजी का सेवन करने से फायदा मिलता है।
  • हाई ब्लड प्रेशर की समस्या में भी कलौंजी का सेवन करना फायदेमंद होता है।
  • सूजन आने पर कलौंजी का तेल इस्तेमाल करने से काफी राहत मिलती है।
  • कलौंजी का सेवन लीवर और किडनी की सेहत के लिए भी अच्छा माना जाता है।
  • पुरूषों में बांझपन की समस्या को ठीक करने के लिए भी कलौंजी का सेवन अच्छा माना जाता है।
  • कलौंजी का तेल बाल एवं त्वचा के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है।
  • नियमित रूप से कलौंजी का सेवन करने से कंसंट्रेशन और मेमोरी पावर बढ़ती है।
  • कलौंजी का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

कलौंजी के नुकसान (Side effects of Kalonji/Black Seeds in hindi) –

  • गर्भवती महिलाओं इसका सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए।
  • एलर्जीक लोगों को जाहिरी तौर पर इसका सेवन करने से बचना चाहिए।
  • कलौंजी के तेल का इस्तेमाल त्वचा पर करने से पहले उसका पैच टेस्ट लेना अच्छा होता है।
  • लो ब्लड प्रेशर की समस्या में कलौंजी का सेवन करना हानिकारक हो सकता है।

इन्हे भी पढ़े – एलोवेरा जेल के फायदे और नुकसान | Aloevera Gel ke fayde aur nuksan hindi mei

सुबह खाली पेट खजूर खाने के फायदे और नुकसान | Subah khaali pet khajoor khane ke fayde aur nuksan

अंजीर खाने के फायदे और नुकसान | Anjir khane ke fayde aur nuksan

कलौंजी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

कलौंजी की तासीर क्या होती है?

कलौंजी तासीर में गर्म होती है।

कलौंजी कितनी मात्रा में खानी चाहिए?

कलौंजी के बीज का सेवन एक बार में 3 या 4 से ज्यादा नहीं करना चाहिए।

कलौंजी को शुगर में कैसे खाएं?

शुगर की बीमारी में कलौंजी का फायदा लेने के लिए सुबह के समय काली चाय में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर पीने से फायदा मिलता है।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.