कचनार के फायदे और नुकसान | Kachnar ke fayde aur nuksan hindi mei

कचनार के फायदे और नुकसान | Kachnar ke fayde aur nuksan hindi mei

कचनार के फायदे और नुकसान | Kachnar ke fayde aur nuksan hindi mei

कचनार एक वृक्ष है जिसमें गुलाबी कलर के बेहद सुंदर फूल लगते हैं। इसका वैज्ञानिक नाम बौहीनिया वेरिएगाटा (Bauhinia Variegata) होता है। इसे मुख्य रूप से भारत में जंगली जगहों पर पाया जा सकता है। कचनार का वृक्ष औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इसके हर हिस्से में कुछ न कुछ औषधीय गुण होते हैं। इसका उपयोग करने के कई सारे फायदे हैं, तो इसके साथ ही इसके कुछ नुकसान भी है। आज हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे कि कचनार के फायदे और नुकसान क्या क्या हैं?

फूलों के आधार पर कचनार तीन प्रकार के होते हैं – लाल फूल वाले कचनार, सफेद फूल वाला कचनार और पीला फूल वाला कचनारकचनार के फूल और छाल को उबाल कर इसका काढ़ा बना कर इसे ठंडा करके इसमें शहद मिलाकर पीने से रक्त साफ होता है। इस काढ़े का सेवन करने से सर्दी, खांसी, जुकाम में भी काफी राहत मिलती है। मुंह में छाले होने की समस्या में भी कचनार का उपयोग करने से काफी फायदा मिलता है। कचनार की छाल को पानी के साथ 10 से 15 मिनट उबालने के बाद इस पानी को छान लो उसके बाद इस से कुल्ला करने से मुंह के छाले को राहत मिलती है।

कचनार के फूलों का काढ़ा पीने से माहवारी में अधिक खून जाने की समस्या में राहत मिलती है, इसके लिए दिन में दो बार काढ़े का सेवन किया जा सकता है। इसी के साथ अजवाइन के साथ इस काढ़े का उपयोग करने से पेट में गैस की समस्या का भी समाधान हो जाता है। कचनार की जड़ का काढ़ा पाचन क्रिया को दुरुस्त करने में काफी सहायता करता है। कचनार के सेवन से हड्डियों संबंधित रोगों का इलाज भी किया जा सकता है।

कचनार का काढ़ा और चूर्ण लेने से थायराइड की समस्या में राहत मिल सकती है,यह मेटाबॉलिज्म अच्छा करता है और वजन घटाने में भी मदद करता है। कचनार का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल भी संतुलित रहता है। लिवर से जुड़ी परेशानियों में भी कचनार का सेवन करना फायदेमंद होता है ,इससे भूख भी बढ़ती है।

जिस तरह हर चीज के फायदे के साथ-साथ उसके नुकसान भी होते हैं। इसी तरह कचनार का सेवन करने के नुकसान भी है। कोई भी चीज अधिक मात्रा में खाने से उसके दुष्परिणाम जाहिर तौर पर दिखाई देते हैं। डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी चीज का सेवन करना हानिकारक हो सकता है। इसलिए अपने शरीर के अनुसार किसी भी चीज का सेवन करें क्योंकि कोई भी आयुर्वेदिक दवा आपके शरीर हिसाब से ही रिएक्ट करेगी।

कचनार का फूल

कचनार के फायदे (Benefits of Bauhinia/Kachnar in hindi) –

  • कचनार का काढ़ा खून साफ करने में मदद करता है।
  • माहवारी के दौरान कचनार के फूल का काढ़ा पीने से अधिक रक्त का रिसाव नहीं होता है।
  • ओरल स्वास्थ्य में भी कचनार का इस्तेमाल फायदेमंद होता है।
  • कचनार की छाल और अनार के फूल के काढ़े का कुल्ला करने से मुंह के छाले ठीक हो जाते है।
  • कचनार के फूल का काढ़ा पीने से सर्दी जुकाम खांसी में आराम मिलता है।
  • कचनार की जड़ और पत्ते का काढ़ा पीने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।
  • कचनार की जड़ का काढ़ा गैस की समस्या में भी फायदेमंद होता है।
  • कचनार लीवर के स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है इसलिए यह भूख भी बढ़ाता है।
  • कचनार की पत्तियों का सेवन करने से पीलिया में आराम मिलता है।
  • कचनार की जड़ का काढ़ा पाचन क्रिया भी अच्छी करता है।

कचनार के नुकसान (Side effects of Bauhinia/Kachnar in hindi) –

  • अधिक मात्रा में कचनार का सेवन करने से उल्टी- दस्त और पेट से जुड़ी दूसरी समस्या हो सकती है।
  • एलर्जीक लोगों को जाहिरी तौर पर इसका सेवन करने से बचना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करना चाहिए।
  • डायबिटीज की दवा लेने वाले रोगियों को भी डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करना चाहिए।
  • इसका सेवन करने से त्वचा पर एलर्जी भी हो सकती है।

कचनार से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

कचनार गूगल का सेवन कैसे करें?

कचनार का सेवन कैसे करें, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपको उसका सेवन किस फायदे के लिए करना है। या आपको किस बीमारी के लिए उसका सेवन करना है।

कचनार का दूसरा नाम क्या है?

कचनार का दूसरा नाम बौहीनिया है।

कचनार का पेड़ कहां मिलेगा?

ज्यादातर कचनार के पेड़ जंगली क्षेत्रों में पाए जाते हैं।

इन्हे भी पढ़े – कलौंजी के फायदे और नुकसान | Kalonji ke fayde aur nuksan hindi mei

एलोवेरा जेल के फायदे और नुकसान | Aloevera Gel ke fayde aur nuksan hindi mei

कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान । Kachcha Papita khane ke fayde aur nuksan hindi mei

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *