कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान। Kachcha Papita khane ke fayde aur nuksan hindi mei

कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान । Kachcha Papita khane ke fayde aur nuksan hindi mei

कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान । Kachcha Papita khane ke fayde aur nuksan hindi mei

कच्चा पपीता रंग में हरे रंग का होता है। वही अंदर से इसका गूदा काफी कड़क होता है। कच्चे पपीते में कई प्रकार के पोषक तत्व जैसे विटामिन सी, विटामिन बी, विटामिन ए, विटामिन ई, पोटैशियम, मैग्निशियम और एंटीऑक्सीडेंट आदि होते हैं। अक्सर लोग फल पके हुए ही खाते हैं, लेकिन कुछ फलों को कच्चा खाना भी सेहतमंद होता है। आज हम इसी बारे में बात करेंगे कि कच्चा पपीता खाने के क्या-क्या फायदे और नुकसान होते हैं। जी हां इन्हें खाने से नुकसान भी हो सकते हैं। तो चलिए देरी ना करते हुए इस विषय पर रोशनी डालते हैं। (कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान)

कच्चा पपीता में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है। विटामिन सी, शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर, शरीर के इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करता है। कच्चे पपीते में अच्छी खासी मात्रा में फाइबर पाया जाता है। यह फाइबर पेट की सफाई करने में मदद करता है और पाचन शक्ति बढाता है। इसके साथ ही जिन व्यक्तियों को मोटापे की परेशानी है तो ऐसे में कच्चे पपीते का सेवन करना फायदेमंद साबित हो सकता है। (कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान)

कच्चे पपीते का सेवन करने से लिवर भी मजबूत होता है। इसलिए पीलिया जैसी बीमारी में कच्चे पपीते का सेवन करना चाहिए। अच्छी स्वस्थ त्वचा पाने के लिए भी कच्चे पपीते का सेवन काफी फायदेमंद होता है। इसके साथ ही ना केवल कच्चा पपीता खाने से बल्कि इसका फेस पैक बनाकर त्वचा पर लगाने से भी त्वचा को काफी फायदा मिलता है। यह त्वचा से टॉक्सिंस को खींचकर त्वचा की रंगत अच्छी करता है, और कील मुंहासे और उनसे होने वाले दाग धब्बों से भी बचाता है। (कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान)

कच्चा पपीता (Raw Papaya)

गर्भावस्था/प्रेगनेंसी के दौरान कच्चा पपीता –

गर्भावस्था के दौरान कच्चे पपीते का सेवन करना काफी हानिकारक हो सकता है। ऐसे समय में डॉक्टर कच्चे पपीते का सेवन करने की सलाह नहीं देते हैं। इसका कारण यह है कि कच्चे पपीते में प्रोटियॉलिटिक एंजाइम, जिसका नाम पपैन है पाया जाता है। जिसकी वजह से गर्भाशय में कॉन्ट्रक्शन हो सकता है। जो गर्भपात का कारण बन सकता है।

माहवारी/पीरियड्स के दौरान कच्चा पपीता –

ऐसा माना जाता है कि तय डेट से पहले पीरियड्स लाने के लिए कच्चे पपीते का सेवन लाभकारी होता है। हालांकि कोई भी शोध इसकी पुष्टि नहीं करता है। जैसा कि हमने ऊपर पढ़ा कच्चे पपीते में एंजाइम होता है,जो गर्भाशय के कॉन्ट्रक्शन का जिम्मेदार होता है इसलिए ऐसा माना जा सकता है कि कच्चे पपीते का सेवन करने से पीरियड जल्दी आ सकते हैं।

कच्चा पपीता खाने के फायदे (Benefits of eating Raw Papaya in hindi) –

  • कच्चा पपीता का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
  • वजन कम करने में भी कच्चे पपीते का सेवन करना काफी फायदेमंद होता है।
  • कच्चे पपीते का सेवन करने से लिवर मजबूत होता है।
  • कच्चे पपीते में पर्याप्त मात्रा में फाइबर मौजूद होता है इसलिए कच्चे पपीते का सेवन करने से पेट साफ रहता है और पाचन क्रिया अच्छी होती है।
  • कच्चा पपीता त्वचा के स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा माना जाता है।
  • कच्चे पपीते का फेस पैक लगाने से चेहरे की रंगत साफ होती है।कील मुहांसों एवं उनसे होने वाले दाग धब्बों से छुटकारा मिलता है।
  • यूरिन इंफेक्शन की समस्या होने पर भी कच्चे पपीते का सेवन फायदेमंद होता है।

कच्चा पपीता खाने के नुकसान (Side effects of eating Raw Papaya in hindi) –

  • गर्भावस्था के दौरान कच्चा पपीता खाने से गर्भपात का खतरा होता है
  • कच्चे पपीते का सेवन करने से पीरियड्स में अनियमितता हो सकती है।
  • एलर्जीक लोगों को जाहिरी तौर पर इसका सेवन करने से बचना चाहिए।
  • अधिक मात्रा में कच्चे पपीते का सेवन करने से पेट से जुड़ी समस्याएं हो सकती है।

इन्हे भी पढ़े – पपीता खाने के फायदे और नुकसान | Papeeta khane ke fayde aur nuksan hindi mei

तरबूज खाने का सही समय फायदे और नुकसान | Tarbuz khane ka sahi samay fayde aur nuksaan

खरबूजा खाने के फायदे और नुकसान | Kharbuja khane ke fayde aur nuksan hindi mei

कच्चे पपीते से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल –

कच्चा पपीता कब खाना चाहिए?

कच्चा पपीता कब खाना चाहिए, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपको इसका कौन सा फायदा लेने के लिए इसका सेवन करना है।

कच्चा पपीता कब नहीं खाना चाहिए?

गर्भावस्था के दौरान कच्चा पपीता का सेवन करने से बचना चाहिए।

कच्चा पपीता कैसे खाया जाता है?

कच्चे पपीते का सेवन इसकी सब्जी या चटनी बनाकर किया जा सकता है।

पपीते की तासीर क्या होती है?

पपीते की तासीर गर्म होती है।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.