गोंद के लड्डू के फायदे और नुकसान | Gond ke laddoo khane ke fayde aur nuksan hindi mei

गोंद के लड्डू के फायदे और नुकसान | Gond ke laddoo khane ke fayde aur nuksan hindi mei

गोंद के लड्डू के फायदे और नुकसान | Gond ke laddoo khane ke fayde aur nuksan hindi mei

दोस्तों, आज हम जिस विषय पर चर्चा करेंगे वो है गोंद के लड्डू के फायदे और नुकसान। गोंद एक चिपचिपा पदार्थ होता है, जो कुछ वृक्षों की छाल से निकाला जाता है, यह वृक्ष है नीम, बबूल और कीकर। गोंद दिखने में ट्रांसपेरेंट होता है, इसमें कोई स्वाद और गंध भी नहीं होती है। औषधीय गुणों से भरपूर यह गोंद भारत में मुख्य रूप से पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और मध्य प्रदेश में पाया जाता है। मुख्यतः इसका सेवन लड्डू बना कर किया जाता है, जो खाने में बेहद स्वादिष्ट और सेहतमंद होते है।

गोंद के लड्डू का सेवन करना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। विशेष रुप से सर्दियों में इसका सेवन करने से शरीर को गर्मी मिलती है और शारीरिक कमजोरी भी दूर होती है। गोंद के लड्डू में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे विटामिन सी, कैल्शियम, गुड कोलेस्ट्रॉल, प्रोटीन, फाइबर और सोडियम आदि। गोंद के लड्डू का सेवन करने से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है यह शरीर को बीमारियों से लड़ने की ताकत देता है। गोंद के लड्डू का सेवन दूध के साथ करने से शरीर में मांसपेशियां और हड्डियां मजबूत होती है।

गोंद के लड्डू के फायदे और नुकसान | Gond ke laddoo khane ke fayde aur nuksan hindi mei
गोंद के लड्डू

गोंद के लड्डू बनाने की विधि –

आवश्यक सामग्री –

  • गेहूं का आटा (Wheat flour) – 150 gms
  • गोंद (Gond) – 50 gms
  • घी (Ghee) – 150 gms
  • दूध (Milk) – 3 tbsp
  • ड्राइ फ्रूट्स (Dry fruits) – 50 gms
  • नारियल (Dry Coconut) – 50 gms
  • गुड़ (Jaggery) – 200 gms
  • इलायची पाउडर (Cardamom powder) – 1 tsp
  • सोंठ (Dry ginger powder) – 1 tsp

प्रक्रिया –

गोंद के लड्डू बनाने के लिए सर्वप्रथम गेहूं के आटे को 4 tbsp घी के साथ एक बाउल में मिलाएंगे। अब इसमें दूध मिला देंगे। अब इसे आधा घंटा के लिए रेस्ट करने के लिए रख दीजिये। आधे घंटे बाद वापस आटे के बाउल को लेकर आटे को हाथों से क्रंबल करेंगे। अब इस आटे को बड़े छलने की मदद से छान लेंगे। अब बचे हुए घी को एक कढ़ाई में ले लेंगे गर्म करेंगे। अब इसमें 50 gms में से आधा गोंद डाल देंगे। गोंद को हम छोटे-छोटे टुकड़ों के रूप में इस्तेमाल करेंगे।

जैसे ही गोंद कढ़ाई में सिक कर फूल जाए हम उसे एक प्लेट में निकाल लेंगे। अब बचा हुआ गोंद भी इसी तरह से सेक कर निकाल लेंगे।

अब बचे हुए घी की कढ़ाई में आटे का मिश्रण डालकर आटे को हल्का भूरा होने तक सेक लेंगे। अब इसमें ड्राई फ्रूट की कतरन मिला देंगे और अच्छे से मिक्स कर लेंगे। अब इस मिश्रण में घिसा हुआ नारियल मिलाएंगे। अच्छे से भूलने के बाद इस मिश्रण को दूसरे बाउल में निकाल लेंगे। ठंडा होने के बाद गोंद को प्लेट में ही हल्का-हल्का क्रश कर लेंगे।अब गुड को उसी कढ़ाई में 4 टेबलस्पून पानी के साथ पकाएंगे। गुड़ घुलने तक इसकी चाशनी बनाएंगे इसे ज्यादा नहीं पकाएंगे।

क्रश किए हुए गोंद को आटे के सिके हुए मिश्रण में मिलाएंगे। अब गुड़ की चाशनी को छानकर सिके हुए आटे के मिश्रण में मिलाएंगे। इसी वक्त इसमें इलायची पाउडर और सोंठ पाउडर भी डाल देंगे। अब इस मिश्रण को 10 मिनट रेस्ट देने के बाद इसके छोटे-छोटे लड्डू बनाएंगे।

गोंद के लड्डू खाने के फायदे (Benefits of eating Gond Laddoo in hindi) –

  • गोंद के लड्डू का सेवन करने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है।
  • नियमित रूप से एक या दो गोंद का लड्डू खाने से कब्ज की समस्या में भी राहत मिलती है।
  • रात में गोंद के लड्डू का सेवन दूध के साथ करने से हड्डियों और मांसपेशियों का स्वास्थ्य अच्छा रहता है।
  • प्रसव के बाद महिलाओं को गोंद का लड्डू खिलाने से शरीर में ताकत बढ़ती है।
  • गोंद के लड्डू का सेवन करने से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
  • माहवारी के दौरान गोंद के लड्डू का सेवन करने से रक्त का रिसाव कम होता है और दर्द में भी राहत मिलती है।
  • स्तनपान करवाने वाली महिलाओं के लिए गोंद के लड्डू का सेवन करना फायदेमंद माना जाता है।

गोंद के लड्डू खाने के नुकसान (Side effects of eating Gond Laddoo in hindi) –

  • एलर्जीक लोगों को गोंद के लड्डू का सेवन करने से जाहिरी तौर पर बचना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाओं को भी गोंद के लड्डू का सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए।
  • गोंद एक चिपचिपा पदार्थ होता है इसलिए इसका सेवन करने से या पेट और आंतों में चिपक सकता है इसके लड्डू बनाते वक्त ध्यान रखें कि इसे अच्छी तरह से क्रश करें।

गोंद के लड्डू से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

क्या गर्मियों में गोंद के लड्डू खा सकते हैं?

गर्मियों में गोंद के लड्डू को कम मात्रा में खाया जा सकता है।

गोंद के लड्डू के साथ क्या नहीं खाना चाहिए?

गोंद के लड्डू के साथ कोई भी खट्टा फल नहीं खाना चाहिए।

सर्दियों में कौन से लड्डू खाने चाहिए?

सर्दियों में गोंद के लड्डू खाने चाहिए।

यह भी पढ़े – गोंद कतीरा खाने के फायदे और नुकसान | Gond Katira khane ke fayde aur nuksan hindi mei

इस आयुर्वेदिक सिरप के बारे में भी पढ़े – शंखपुष्पी सिरप के फायदे और नुकसान | Shankhpushpi Syrup ke fayde or nuksan hindi mei

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.