फिटकरी का पानी पीने के फायदे और नुकसान | Fitkari ka paani peene ke fayde aur nuksan hindi mei

फिटकरी का पानी पीने के फायदे और नुकसान | Fitkari ka paani peene ke fayde aur nuksan hindi mei

Table of Contents

फिटकरी का पानी पीने के फायदे और नुकसान | Fitkari ka paani peene ke fayde aur nuksan hindi mei

हेलौ प्रिय दोस्तों, आज हम इस लेख में बात करेंगे फिटकरी का पानी पीने के फायदे और नुकसान (Fitkari ka paani peene ke fayde aur nuksan) के बारे में। आजकल की बिजी लाइफ स्टाइल और खान-पान का असर सीधे तौर पर शरीर पर होता है। हमारी जीवन शैली अत्यधिक व्यस्त होने की वजह से हम शरीर पर कम ध्यान दे पाते हैं इसका सीधा सीधा असर हमारे शरीर पर ही पड़ता है। इसी वजह से कई प्रकार की परेशानियां शरीर को घेर लेती है। आज हम यही जानेंगे की फिटकरी का पानी पीने से शरीर की कौन सी समस्याओं को ठीक किया जा सकता है।

मुख्य रूप से फिटकरी दो प्रकार की पाई जाती है एक लाल फिटकरी और एक सफेद फिटकरी। भारतीय घरों में सफेद फिटकरी का उपयोग ज्यादा होता है। फिटकरी में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टी होती है। जो शरीर में बैक्टीरिया को खत्म करने में सहायक होती है, इसके साथ ही ओरल स्वास्थ्य के लिए भी फिटकरी काफी अच्छी होती है। इसके साथ ही फिटकरी में एंटीसेप्टिक गुण भी होते हैं जिसका उपयोग त्वचा पर करना फायदेमंद होता है। (Fitkari ka paani peene ke fayde aur nuksan)

फिटकरी का उपयोग ओरल हेल्थ के लिए काफी अच्छा माना गया है। इसका उपयोग एक माउथवॉश की तरह किया जा सकता है। इसका उपयोग करने से सांस में आने वाली बदबू की समस्या को काफी हद तक ठीक किया जा सकता है। इसके साथ ही दांत और मसूड़ों के दर्द में भी फिटकरी का उपयोग फायदेमंद होता है। इस तरह यह ओरल स्वास्थ्य के लिए अच्छी होती है। खांसी और दमा की समस्या में हल्दी और फिटकरी का उपयोग काफी मददगार हो सकता है। फिटकरी के पानी में हल्दी मिलाकर इस के गार्गल करने से इन समस्याओं का समाधान हो सकता है। (Fitkari ka paani peene ke fayde aur nuksan)

जिस तरह फिटकरी की इतने उपयोग हैं वहीँ इसका पानी पीने के भी बहुत से फायदे हैं। फिटकरी का पानी न केवल पीने के फायदे है बल्कि बाहरी अंगों पर भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। महिलाओं को होने वाले वाइट वजाइनल डिस्चार्ज की समस्या में फिटकरी का पानी फायदेमन्द होता है, फिटकरी के पानी से वजाइना साफ़ करने से इस समस्या में राहत मिलती है। इसके साथ ही सूजन, छोटी चोंट ज़ख्म जैसी जगहों पर भी फिटकरी का पानी इस्तेमाल करने से फायदा मिलता है। (Fitkari ka paani peene ke fayde aur nuksan)

फिटकरी का पानी पीने के फायदे और नुकसान | Fitkari ka paani peene ke fayde aur nuksan hindi mei
फिटकरी का पानी पीने के फायदे और नुकसान

फिटकरी का पानी पीने के फायदे (benefits of drinking alum water in hindi) –

  • फिटकरी का पानी पीने से शरीर के टॉक्सिंस बाहर निकलने में मदद मिलती है।
  • डिटॉक्सिफिकेशन की वजह से म्युनिटी सिस्टम को मजबूत होने में मदद मिलती है।
  • फिटकरी का पानी पीने से पेट साफ होता है।
  • कब्ज की समस्या में फिटकरी का पानी पीने से राहत मिलती है।
  • फिटकरी का पानी पीने से शरीर में खून की मात्रा बढ़ाने में सहायता मिलती है।
  • एसिडिटी और गैस जैसी समस्या में भी फिटकरी का पानी बेहद लाभदायक होता है।
  • फिटकरी का पानी पीने से बुखार में शरीर का तापमान कम करने में सहायता मिलती है।

फिटकरी का पानी पीने नुकसान (Side effects of drinking alum water in hindi) –

  • एलर्जीक लोगों को फिटकरी का पानी पीने से बचना चाहिए।
  • डॉक्टर की सलाह पर ही फिटकरी का पानी पीना चाहिए।
  • गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों को फिटकरी का पानी डॉक्टर से पूछ कर ही पीना चाहिए।

यह भी पढ़े – फिटकरी खाने के फायदे और नुकसान | Fitkari khane ke fayde aur nuksan hindi mei

नाक में घी डालने के फायदे और नुकसान | Naak mei ghee dalne ke fayde aur nuksan hindi mei

सुबह खाली पेट नींबू पानी पीने के फायदे और नुकसान | Subah khali pet nimbu paani peene ke fayde aur nuksan hindi mei

सुबह खाली पेट ग्रीन टी पीने के फायदे और नुकसान | Subah khali pet green tea peene ke fayde aur nuksan hindi mei

फिटकरी का पानी पीने से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

फिटकरी का पानी पीने से क्या फायदा होता है?

फिटकरी के पानी से होने वाले फायदे इस लेख में ऊपर बताए गए हैं।

फिटकरी की तासीर क्या है?

तासीर में फिटकरी गर्म होती है।

क्या फिटकरी को पानी में मिलाकर पी सकते हैं?

फिटकरी को पानी में मिलाकर इसे छानकर पीने से शारीरिक लाभ होते हैं किंतु इसका सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए।

फिटकरी का पानी पीने से क्या नुकसान हो सकता है?

फिटकरी के पानी से होने वाले नुकसान इस लेख में ऊपर बताए गए हैं।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.