च्वनप्राश खाने के फायदे । Chyawanprash khane ke fayde in hindi

च्वनप्राश खाने के फायदे । Chyawanprash khane ke fayde in hindi

च्वनप्राश खाने के फायदे । Chyawanprash khane ke fayde in hindi

हेलौ प्रिय दोस्तों, आज हम इस लेख में बात करेंगे च्वनप्राश खाने के फायदे (Chyawanprash khane ke fayde) के बारे में। इसे एक आयुर्वेदिक दवाई कहा जा सकता है, इसे बेहद पौष्टिक माना जाता है। यह कई तरह की जड़ी बूटियों से मिला कर बनाया जाता है। इसे खाने के कई फायदे है। इस लेख में हम यही जानेंगे कि च्वनप्राश खाने के फायदे क्या क्या है, इस में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं, और कैसी स्थिति में लेना इसे फायदेमंद होता है।

आजकल की बिजी लाइफ स्टाइल और खान-पान का असर सीधे सीधे तौर पर शरीर पर होता है। शरीर में बाहर के केमिकल्स की वजह से नई नई तरह की परेशानियां पैदा हो रही है। ऐसे में शरीर का ख्याल रखना बेहद जरूरी होता है। शरीर का ख्याल रखने और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आज के जीवन में च्वनप्राश का इस्तेमाल करने के बेहद फायदे होते है। यह शरीर को कई प्रकार से लाभ पहुँचता है।

च्वनप्राश में कई तरह की औषधियां जैसे आंवला, वसाका, अश्वगंधा, तुलसी, नीम, केसर, पिपली, ब्राह्मी, घी, शहद, लोंग, इलायची, दालचीनी, तेजपत्ता, बेल, अगुरु, पुनर्नवा, हल्दी, शतावरी, नाग केसर, तिल का तेल आदि पाई जाती है। इन सभी औषधियों के जहां अपने अपने गुण हैं वहीं च्वनप्राश में मिलकर यह बेहद फायदेमंद हो जाती है। इसका सेवन करने से शरीर में स्फूर्ति आती है और शारीरिक ऊर्जा भी मिलती है।

आज के इस दौर में जहां कई तरह की महामारी और बीमारियां फैल रही है, इस समय शरीर को तंदुरुस्त रखना बेहद जरूरी है। च्वनप्राश खाने से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। इसके साथ ही यह शरीर को मजबूती भी प्रदान करता है। च्वनप्राश शरीर से टॉक्सिंस को बाहर निकालने में भी काफी हद तक सहायक होता है।

च्वनप्राश खाने के फायदे । Chyawanprash khane ke fayde in hindi
च्वनप्राश खाने के फायदे

च्वनप्राश खाने का तरीका –

च्वनप्राश को सुबह खाली पेट खाना सबसे ज्यादा फायदेमंद रहता है। इसे दिन में एक या दो बार लिया जा सकता है। सर्दियों में इसके फायदे शरीर के लिए बढ़ जाते हैं। इसे सीधे रूप से खाया जा सकता है। इसके साथ ही दूध के साथ भी च्वनप्राश को खा सकते हैं। यदि आप कोई खट्टी या मसालेदार चीज खा रहे हैं, तो ऐसे में च्वनप्राश का सेवन 1 घंटे बाद ही करें, क्योंकि खट्टी या मसालेदार चीज च्वनप्राश के असर को कम कर सकती है।

हर सिक्के के दो पहलू होते हैं जहां एक ओर च्वनप्राश का सेवन करने से इतना फायदे हैं वहीं दूसरी ओर इसके कुछ नुकसान भी है। अधिक मात्रा में इसका सेवन शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है। तो चलिए जानते हैं च्वनप्राश खाने के फायदे और नुकसान। यदि आप इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जानना चाहते हैं तो इस लेख को आखरी तक ध्यान से पढ़ते रहे ताकि कोई भी महत्वपूर्ण जानकारी आप से न छूट सके।

च्वनप्राश खाने के फायदे (Benefits of eating Chyawanprash in hindi) –

  • च्वनप्राश शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करने का कार्य करता है।
  • च्वनप्राश खाने से शारीरिक ऊर्जा मिलती है।
  • च्वनप्राश खाने से शरीर से टॉक्सिन स्कोर निकालने में मदद मिलती है।
  • च्वनप्राश खाने से शरीर विटामिन और प्रोटीन को अच्छी तरह से अवशोषित कर पाता है।
  • मानसिक थकान में भी च्वनप्राश खाने से फायदा मिलता है।
  • च्वनप्राश खाने से शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है।
  • च्वनप्राश त्वचा को बढ़ती उम्र के लक्षणों से भी बचाता है।
  • च्वनप्राश खाने से मांसपेशियां यानी मसल्स मजबूत होती है।
  • च्वनप्राश शरीर में ब्लड सरकुलेशन अच्छा करने में मदद करता है।
  • अनिद्रा यानी नींद ना आने की समस्या को भी च्वनप्राश खाने से दूर किया जा सकता है।
  • च्वनप्राश मस्तिष्क तेज करता है, इसके साथ ही याददाश्त बढ़ाता है।
  • च्वनप्राश खाने से पाचन क्रिया अच्छी और बेहतर तरीके से होती है।
  • कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए भी च्वनप्राश कारगर होता है।
  • आंतों की अच्छी सेहत के लिए भी च्वनप्राश खाना लाभदायक होता है।
  • च्वनप्राश खाने से सर्दी जुकाम जैसी समस्याएं नहीं होती है।
  • त्वचा और बालों के स्वास्थ्य के लिए भी चवनप्राश फायदेमंद होता है।
  • च्वनप्राश खून को साफ करने में काफी मदद करता है

च्वनप्राश खाने के नुकसान (Side effects of eating Chyawanprash in hindi) –

  • रात को च्वनप्राश खाने से दांतो की सेहत खराब हो सकती है।
  • अधिक मात्रा में च्वनप्राश खाने से पेट से जुड़ी समस्या हो सकती है।
  • डायबिटीज के मरीजों को च्वनप्राश का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

यह भी पढ़े – सौंफ खाने के फायदे और नुकसान । Saunf khane ke fayde aur nuksan hindi mei

ग्लूकोन डी के फायदे और नुकसान । Glucon D ke fayde aur nuksan in hindi

काला गोंद के फायदे और नुकसान क्या है? | Kala Gond ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei

च्वनप्राश खाने से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल –

च्वयनप्राश कब नहीं खाना चाहिए?

रात के वक्त च्वयनप्राश खाने से बचना चाहिए। इसके साथ ही डायबिटीज के मरीजों को च्वयनप्राश खाने से बचना चाहिए या फिर डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करना चाहिए।

च्वयनप्राश खाने का सही तरीका क्या है?

च्वयनप्राश को सुबह खाली पेट खाना सबसे ज्यादा फायदेमंद रहता है। इसे दिन में एक या दो बार लिया जा सकता है। सर्दियों में इसके फायदे शरीर के लिए बढ़ जाते हैं। इसे सीधे रूप से खाया जा सकता है। इसके साथ ही दूध के साथ भी च्वयनप्राश को खा सकते हैं। यदि आप कोई खट्टी या मसालेदार चीज खा रहे हैं, तो ऐसे में च्वयनप्राश का सेवन 1 घंटे बाद ही करें, क्योंकि खट्टी या मसालेदार चीज च्वयनप्राश के असर को कम कर सकती है।

च्वयनप्राश कब खाया जाता है?

च्वयनप्राश को सुबह खाली पेट खाना सबसे ज्यादा फायदेमंद रहता है। इसे दिन में एक या दो बार लिया जा सकता है।

दूध के साथ च्वयनप्राश खाने से क्या होता है?

दूध के साथ च्वयनप्राश खाने से इसके फायदे और भी ज्यादा बढ़ जाते हैं।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.