चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है? | Chewing Gum ke fayde aur nuksan kya hai hindi mai

चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है? | Chewing Gum ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei

Table of Contents

चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है? | Chewing Gum ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei

हेलौ प्रिय दोस्तों, आज हम इस लेख में बात करेंगे चिंगम खाने के फायदे और नुकसान (Chewing Gum ke fayde aur nuksan kya hai) के बारे में। चिंगम एक प्रकार की चबाने की चीज है। इसे कई प्रकार की चीजों से मिला कर बनाया जाता है। मूल रूप से जेपोटा नाम के पेड़ के दूध से बनाया जाता है, जिसका मतलब यह है कि इसका लचीलापन इसी दूध की वजह से होता है। चिंगम को मीठा करने के लिए इसमें कृत्रिम चीनी और फ्लेवर बढ़ाने के लिए इसमें कृत्रिम फ्लेवर डाले जाते हैं। (चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है)

आजकल कई तरह की और कई फ्लेवर में चिंगम बाजार में उपलब्ध होती है। इसके तरह-तरह के फ्लेवर्स इसे आकर्षक बनाते हैं। यह एक प्रकार से माउथ फ्रेशनर का काम भी करती है। ना सिर्फ मुंह की एक्सरसाइज करने के लिए या स्वाद के लिए लोग चिंगम का इस्तेमाल करते हैं बल्कि सिगरेट छोड़ने के लिए भी कई तरह की ऐसी चिंगम का इजाद किया गया है जो सिगरेट की तलब को खत्म करने में सहायक होती है। (चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है)

आजकल कई तरह की और कई फ्लेवर में चिंगम बाजार में उपलब्ध होती है। इसके तरह-तरह के फ्लेवर्स इसे आकर्षक बनाते हैं। यह एक प्रकार से माउथ फ्रेशनर का काम भी करती है। ना सिर्फ मुंह की एक्सरसाइज करने के लिए या स्वाद के लिए लोग चिंगम का इस्तेमाल करते हैं बल्कि सिगरेट छोड़ने के लिए भी कई तरह की ऐसी चिंगम का इजाद किया गया है जो सिगरेट की तलब को खत्म करने में सहायक होती है। (चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है)

कई लोग शौकिया तौर पर चिंगम का इस्तेमाल करते हैं, तो कई लोग मुंह को फ्रेश रखने के लिए भी चिंगम चबाते हैं। कुछ लोग मीठे खाने के शौक़ीन होते हैं पर यदि वो डाइट पर होते हैं तो मीठा नहीं खा पाते हैं, ऐसे में चिंगम खाने से उनके मीठे खाने की क्रेविंग पूरी हो जाती है और डाइट पर भी कुछ खास असर नहीं पड़ता है। चिंगम के फ्लेवर और इसका लचीलापन इसका आदी बनाने में देर नहीं लगाता और ज्यादातर लोगों को इसकी आदत पड़ जाती है। (चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है)

चिंगम मुंह की एक्सरसाइज करने में तो मदद करती है। इसके साथ ही यह मस्तिष्क को अलर्ट भी रखती है। चिंगम चबाने से मानसिक तनाव दूर करने में मदद मिलती है, क्योंकि इसमें बसे फ्लेवर और स्वाद काफी देर तक मुंह में चलता है। जैसा कि हम ऊपर देखा चिंगम सिगरेट छोड़ने के लिए भी काफी बेहतर और अच्छा उपाय मानी जाती है यदि आपको सिगरेट की तलब होती है तो ऐसे में एक चिंगम चबा लेने से उस तलब को शांत करने में काफी मदद मिलती है। (चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है)

जिस प्रकार हर सिक्के के 2 पहलू होते हैं उसी प्रकार जहां एक ओर चिंगम खाने के इतने फायदे हैं वहीं दूसरी ओर इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। अधिक देर तक चिंगम चबाते रहने से सिर दर्द हो सकता है। इसके साथ ही चिंगम चबाने की आदत गले से जुड़ी परेशानियों को न्योता देती है। तो चलिए अब विस्तार से जानते हैं चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है? यदि आप इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जानना चाहते हैं तो इस लेख को आखरी तक ध्यान से पढ़ते रहे ताकि कोई भी महत्वपूर्ण जानकारी आप से न छूट सके। (चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है)

चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है? | Chewing Gum ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei
चिंगम खाने के फायदे और नुकसान क्या है? | Chewing Gum ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei

क्या चिंगम खाने से दिमाग तेज होता है?

जी हां, चिंगम खाने से दिमाग तेज हो सकता है, क्योंकि इसको लगातार चबाने से मस्तिष्क की एक्सरसाइज होती है, जिससे मस्तिष्क को अलर्ट रहने में भी सहायता मिलती है।

पेट में चिंगम चला जाए तो क्या होता है?

चिंगम पेट में पच नहीं पाता है, ऐसे में यदि अगर यह पेट में चला जाए तो यह काफी देर तक पेट में ही रहता है। इसके बाद यह स्टूल के जरिए शरीर से बाहर निकलता है।

चिंगम खाने के फायदे (Benefits of eating chewing gum in hindi) –

  • चिंगम चबाने से वजन कम करने में सहायता मिलती है, क्योंकि इसे चबाने से भूख नहीं लगती है।
  • मस्तिष्क अलर्ट रखने के लिए चिंगम चबाना अच्छा होता है क्योंकि इसमें लगातार मुंह की एक्सरसाइज होती रहती है।
  • चिंगम चबाने से मुंह की एक्सरसाइज होती है, जिससे मुंह की चर्बी को कम करने में सहायता मिलती है।
  • लगातार चिंगम चबाने से मुंह में खाना पचाने वाली लार ज्यादा बनती है।
  • चिंगम चबाते रहने से मानसिक तनाव को कम करने में मदद मिलती है।
  • रोजाना चिंगम चबाने से मस्तिष्क अलर्ट रहता है ऐसे में मेमोरी पावर बढ़ाने में सहायता होती है।
  • जी मिचलाना और घबराहट जैसी समस्या में भी चिंगम चबाने से काफी राहत मिलती है।

चिंगम खाने के नुकसान (Side effects of eating chewing gum in hindi) –

  • अधिक चिंगम चबाने से गले से जुड़ी परेशानियां हो सकती है।
  • ज्यादा चिंगम चबाने से सीने में जलन और अपच जैसी समस्या हो सकती है।
  • अधिक मीठी चिंगम चबाना दांतों में कीड़े को न्योता दे सकता है।
  • ज्यादा देर तक चिंगम चबाने से सिरदर्द हो सकता है।
  • अधिक चिंगम चबाने से आंखों पर बुरा असर पड़ सकता है।
  • चिंगम चबाने से जंक फूड खाने की क्रेविंग बढ़ती है।

यह भी पढ़े – गुलकंद खाने के फायदे और नुकसान क्या है? | Gulkand khane ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei

बासी मुंह पानी पीने के फायदे और नुकसान | Baasi munh paani peene ke fayde aur nuksan hindi mei

दांत उखाड़ना निकलाने के फायदे और नुकसान | Daant ukhadna niklane ke fayde aur nuksan hindi mei

चिंगम खाने से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

चिंगम किस वृक्ष के दूध से बनती है?

मूल रूप से जेपोटा नाम के पेड़ के दूध से बनाया जाता है, जिसका मतलब यह है कि इसका लचीलापन इसी दूध की वजह से होता है।

क्या चिंगम खाने से दिमाग तेज होता है?

जी हां, चिंगम खाने से दिमाग तेज हो सकता है, क्योंकि इसको लगातार चबाने से मस्तिष्क की एक्सरसाइज होती है, जिससे मस्तिष्क को अलर्ट रहने में भी सहायता मिलती है।

पेट में चिंगम चला जाए तो क्या होता है?

चिंगम पेट में पच नहीं पाता है, ऐसे में यदि अगर यह पेट में चला जाए तो यह काफी देर तक पेट में ही रहता है। इसके बाद यह स्टूल के जरिए शरीर से बाहर निकलता है।

चिंगम चबाने के क्या क्या फायदे हैं?

चिंगम चबाने के कई फायदे हो सकते हैं, जो ऊपर इस लेख में दिए गए हैं।

चिंगम चबाने के नुकसान क्या है?

चिंगम चबाने के कई नुकसान हो सकते हैं, जो ऊपर इस लेख में दिए गए हैं।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.