ब्लड डोनेट करने के फायदे और नुकसान क्या है? Blood donate karne ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei

ब्लड डोनेट करने के फायदे और नुकसान क्या है? Blood donate karne ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei

ब्लड डोनेट करने के फायदे और नुकसान क्या है? Blood donate karne ke fayde aur nuksan kya hai hindi mei

हेलौ प्रिय दोस्तों, आज हम इस लेख में बात करेंगे ब्लड डोनेट करने के फायदे और नुकसान क्या है? (Blood donate karne ke fayde aur nuksan kya hai)ब्लड डोनेट करना एक निस्वार्थ कार्य है। ऐसा करने से ना केवल दूसरे मरीजों की सहायता होती है, बल्कि स्वयं को भी आंतरिक सुख मिलता है। इसलिए हर योग्य व्यक्ति को ब्लड डोनेट जरूर करना चाहिए। ब्लड डोनेट करने के लिए कई प्रकार के शिविर का आयोजन किया जाता है कई अस्पतालों में ब्लड बैंक होता है जहां आप सीधे जाकर भी ब्लड डोनेट कर सकते हैं।

आमतौर पर लोगों को यही लगता है कि ब्लड डोनेट करने से शरीर में कमजोरी आती है अथवा ऐसा सोचकर कई लोग ब्लड डोनेट करने से हिचकी चाहते हैं। परंतु इसमें बिल्कुल सच्चाई नहीं है। एक योग्य व्यक्ति यदि ब्लड डोनेट करें तो न केवल उसको मानसिक संतुष्टि मिलती है बल्कि इसके कई शारीरिक फायदे भी होते हैं। इसलिए ब्लड डोनेशन के आयोजनों को बढ़ावा मिलना चाहिए या ना केवल मनुष्य की जान बचाने में सहायता करता है, बल्कि कई प्रकार की सकारात्मक भावनाओं से भी मस्तिष्क को भर देता है।

जैसा कि हमने ऊपर बताया ब्लड डोनेट करने के कई तरह के शारीरिक फायदे होते हैं जैसे ब्लड डोनेट करने के बाद शरीर में नई ब्लड सेल्स का निर्माण होता है। इसके साथ ही हार्ट अटैक के खतरे से भी बचा जा सकता है। ब्लड डोनेट करने से मोटापे की समस्या को दूर किया जा सकता है। ब्लड डोनेट करने के लिए हर डोनेशन के अंतराल में कम से कम 3 महीने का समय जरूर होना चाहिए। इससे कम समय में ब्लड डोनेट नहीं करना चाहिए।

ब्लड डोनेट करने के फायदे (Benefits of blood donation) –

  • ब्लड डोनेट करने से मानसिक रूप से संतुष्टि मिलती है।
  • ब्लड डोनेट करने से किसी की सहायता करना एवं किसी की जान बचा पाने का सुख प्राप्त होता है।
  • कई शोधों में पाया गया है कि ब्लड डोनेट करने से ह्रदय का स्वास्थ्य अच्छा होता है।
  • ब्लड डोनेट करने से हार्ट अटैक होने का खतरा कम हो जाता है।
  • ब्लड डोनेट करने से वजन कम करने में सहायता मिलती है।
  • ब्लड डोनेट करने से शरीर में नए ब्लड सेल्स का निर्माण होता है, जिससे शरीर को एनर्जी प्राप्त होती है।
  • शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ने पर लीवर पर प्रेशर पड़ता है इसलिए ब्लड डोनेट करने से लिवर से जुड़ी परेशानियां ठीक हो सकती है।
  • डोनेट करने से आपके शरीर का पूर्ण रूप से चेकअप भी हो जाता है।

ब्लड डोनेट करने के नुकसान (Side effects of blood donation) –

  • ब्लड डोनेट करने के बाद आराम ना करने पर शरीर को थकान महसूस हो सकती है।
  • चक्कर आने जैसी समस्या भी ब्लड डोनेट करने के बाद हो सकती है।
  • घबराहट उल्टी और जी घबराने जैसी समस्या भी ब्लड डोनेट करने के बाद महसूस की जा सकती है।
  • उल्टी और ठंड लगने की समस्या भी ब्लड डोनेट करने के बाद हो सकती है।

खून बढ़ाने वाली चीज़ो के बारे में भी पढ़े – चुकंदर और गाजर का जूस पीने के फायदे और नुकसान | Chukandar aur gajar ka juice peene ke fayde aur nuksan hindi mei

चुकंदर खाने के फायदे और नुकसान | Chukander khane ke fayde aur nuksan hindi mei

सेब खाने के फायदे और नुकसान | Seb khane ke fayde aur nuksan hindi mei

ब्लड डोनेट से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

ब्लड डोनेट करने से क्या नुकसान होता है?

ब्लड डोनेट करने से कुछ नुकसान हो सकते हैं, जो इस लेख में ऊपर दिए गए हैं।

खून देने से शरीर में क्या होता है?

खून देने से शरीर में फायदे हो सकते हैं, जो ऊपर इस लेख में दिए गए हैं।

ब्लड डोनेट कितने दिन बाद कर सकते हैं?

ब्लड डोनेट करने के लिए हर डोनेशन के अंतराल में कम से कम 3 महीने का समय जरूर होना चाहिए। इससे कम समय में ब्लड डोनेट नहीं करना चाहिए।

खून देने से क्या फायदा?

खून देने से शरीर में फायदे हो सकते हैं, जो ऊपर इस लेख में दिए गए हैं।

ज़रूरी सूचना – इस लेख में सारी जानकारी तथ्यों के आधार पर दी गयी है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श ले। यह पेज इस जानकारी के लिए किसी भी ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.